कोरोना वायरस का ग्रहण लगा नये साल की पार्टियों पर भी

कोरोना वायरस  के नए स्ट्रेन ने हड़कंप के बीच नये साल के स्वागत के लिए देश में लोगों में उत्साह खूब देखा जा रहा है। लेकिन जिस तरह के हालात बन रहे है ऐसे में सरकारे नये साल के जश्न को लेकर सजग दिख रही है। बकायदा इसके लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी नई गाइडलाइंस जारी की हैं। केंद्र और राज्यों द्वारा उठाए गए इन कदमों का असर नए साल के जश्न  पर असर पड़ना लाजमी है। कुछ शहरों में नए साल की पूर्व संध्या पर होने वाले आयोजनों को पूरी तरह प्रतिबंधित किया गया है और लोगों को एक जगह जुटने से रोकने के लिए धारा 144 लगा दी गई है। चलिये कुछ खास शहरों की बात करते है और जानते है कि अगर आप वहां जश्न की तैयारी कर रहे है तो आपको किन बातो का ध्यान रखना होगा।

 

मुंबई

कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए मुंबई  में इस बार कोई न्यू ईयर पार्टी  नहीं होगी। यहां 5 जनवरी 2021 तक नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक लोगों को घरों से बाहर निकलने की मनाही है। सरकार की माने तो  बच्चों और बुजुर्गों को नए साल के जश्न में शामिल होने से बचना चाहिए। सरकार ने धार्मिक या सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए भी कोई अनुमति नहीं दी है। मुंबई पुलिस के लगभग 35,000 जवान शहर में कानून- व्यवस्था बनाए रखने के लिए गश्त करेंगे। सभी रेस्टोरेंट और पब आदि को ठीक 11 बजे बंद कराया जाएगा और ऐसा न करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। हालांकि लोगों को गेटवे ऑफ इंडिया, मरीन ड्राइव, चौपाटी, जुहू आदि जगहों पर जाने की अनुमति है, लेकिन उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क आदि नियमों का पालन करना होगा। सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि छतों या बोट्स आदि पर भी पार्टी आयोजित नहीं की जा सकेगी।

दिल्ली-एनसीआर

इसी तरह राष्ट्रीय राजधानी में भी नए साल का जश्न प्रभावित रहेगा। पुलिस ने 31 दिसंबर को होने वालीं पार्टियों को लेकर सख्त चेतावनी जारी की है। पुलिस की तरफ से कहा गया है कि बिना अनुमति छत पर होने वाली पार्टियों के लिए भी कार्रवाई की जाएगी। वहीं, नोएडा जिला प्रशासन ने कहा है कि पार्टियों के लिए 100 से अधिक व्यक्तियों को अनुमति नहीं दी जाएगी। इसके अलावा, 31 दिसंबर को गौतमबुद्धनगर में पार्टियों और कार्यक्रमों का आयोजन करने वाले सभी होटल, रेस्तरां और क्लब मालिकों को ऐसा करने से पहले जिला मजिस्ट्रेट या पुलिस आयुक्त (CP) से अनुमति लेनी होगी।

बेंगलुरु

कोरोना के मद्देनजर बेंगलुरू में 24 दिसंबर से 11 जनवरी तक रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू रहेगा। राजधानी बेंगलुरु में COVID के प्रसार को रोकने के लिए सभी प्रतिबंधात्मक और एहतियाती कदम लागू रहेंगे। सार्वजनिक स्थानों पर चार से अधिक लोगों के इकट्ठा होने पर मनाही है। हालांकि, लोग अपनी व्यक्तिगत पार्टी आयोजित कर सकते हैं, लेकिन सार्वजनिक कार्यक्रमों की अनुमति नहीं होगी। सरकार की तरफ से कहा गया है कि होटल, मॉल, रेस्तरां, क्लब आदि में नियमित गतिविधियां चालू रहेंगी, मगर विशेष प्रबंध जैसे डीजे, पार्टी, ईवेंट, म्यूजिक शो आदि की अनुमति नहीं होगी। होटल, रेस्टोरेंट में भीड़ के जुटने पर कार्रवाई की जाएगी। होटलों को ई-टोकन के साथ एडवांस बुकिंग की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं।

हैदराबाद

हैदराबाद में 31 दिसंबर को होने वाली पार्टियों को लेकर सख्त निर्देश दिए हैं। पुलिस ने कहा है कि सभी पार्टियां रात 8 बजे से एक बजे के बीच आयोजित की जा सकती हैं। इसी तरह चेन्नई  में रेस्टोरेंट, क्लब, पब, रिसॉर्ट्स, बीच रिसॉर्ट्स, समुद्र तट आदि पर 31 दिसंबर की रात कोई पार्टी आयोजित नहीं होगी। ये प्रतिबंध पूरे राज्य में लागू रहेगा. हालांकि, तमिलनाडु में कोई कर्फ्यू नहीं है। रेस्टोरेंट, पब, क्लब और रिसॉर्ट खुले रहेंगे और COVID संबंधी दिशानिर्देशों के तहत सामान्य गतिविधियां संचालित की जाएंगी। इसी तरह पहाड़ों   शहर सिमला और मंसूरी सहित और शहरों में भी रात के वक्त पार्टी पर रोक लगा दी गई है।

यानी साफ है कि आने वाला साल अच्छा हो इशके लिए इसबार हमें घर में रहकर ही दुआ करनी होगी। क्योकि कोरोना के चलते इसबार हर बार की तरह देश में किसी जगह भी लोग पार्टी नही मना पाएंगे।