कोरोना के चलते गरीबों के लिए दो महीने फिर मुफ्त राशन का ऐलान

कोरोनावायरस की दूसरी लहर के मद्देनजर केंद्र सरकार ने गरीब परिवारों के लिए एक बार फिर प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्य योजना का ऐलान किया है। इस योजना के तहत केन्द्र सरकार राशनकार्ड धारकों को मई और जून महीने में प्रति व्यक्ति 5 किलो अतिरिक्त अनाज मुफ्त देगा ।

केंद्र सरकार देगी दो महीने का फ्री अनाज

कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते हर राज्य अपने यहां पर लॉकडाउन लगा रहा है जिसके बाद एक बार फिर से गरीब लोगों की रोजी-रोटी पर बन आई है। हालाकि पिछले साल की तरह इस साल भी मोदी सरकार ने ऐसे लोगों का सहारा बनने जा रहे है। सरकार ने ऐलान किया है कि वो को मई और जून महीने में प्रति व्यक्ति 5 किलो अतिरिक्त अनाज देगी। इससे करीब 80 करोड़ लोग लाभ ले सकेंगे। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना पर 26000 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च होंगे। यह मुफ्त 5 किलो अनाज, राशन कार्ड पर रहने वाले अनाज के कोटे के अतिरिक्त रहेगा।

कोरोना के पहली लहर में भी सरकार ने फ्री में दिया था अनाज

पिछले साल कोविड-19 की पहली लहर के दौरान मार्च में जब पूरे देश में लॉकडाउन लगाया गया था तब इस योजना का ऐलान हुआ था। यह येाजना प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज का हिस्सा थी। उस वक्त गरीब परिवारों को राहत देने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत सरकार ने 80 करोड़ से अधिक राशनकार्ड धारकों को अप्रैल, मई और जून 2020 के लिए राशन कार्ड में दर्ज सदस्यों के आधार पर प्रति व्यक्ति पांच किलो अनाज (गेहूं अथवा चावल) और प्रति परिवार एक किलो दाल मुफ्त देने की घोषणा की थी। यह मुफ्त 5 किलो अनाज, राशन कार्ड पर रहने वाले अनाज के कोटे के अतिरिक्त घोषित किया गया था। बाद में सरकार ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार दिवाली और छठ पूजा तक कर दिया था। अब सरकार ने एक बार फिर प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को लागू किया है।

देश में अफरातफरी न फैले और प्रवासी मजदूर सामाजिक दूरी बनाकर जहां पर है वही बने रहे इशके लिये पीएम मोदी ने एक बार फिर से उनके खाने पीने का इंतजाम किया है। हालांकि इस ऐलान के बाद भारत की आर्थिक व्यवस्था पर जरूर बोझ पड़ेगा लेकिन सरकार हमेशा कहती आई है कि जान है तो जहान है। इसलिये देशवासियों के प्राण की रक्षा के लिये कदम उठाती आई है।