राम लला का भव्य मंदिर निर्माण शुरू

कहते हैं न राम से बड़ा राम का नाम पूरा करता है सब काम, देश के तमाम साधू संतो और आम नागरिकों को इस एक शब्द पर विश्वास था कि एक न एक दिन राम जी उनकी प्रार्थना को जरूर सुनेंगे और अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण होगा, जिसकी नींव आज से पड़ गई है।

लाखों की आस्था का प्रतीक राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरू

हिंदुओं की आस्था के प्रतीक भगवान राम का भव्य मंदिर निर्माण का काम शुरू हो गया है। वैसे तो अयोध्या में रामजन्मभूमि में मई की शुरूआत से जमीन को समतल करने का काम शुरू हो गया था लेकिन मंदिर निर्माण की घोषणा का ऐलान आज किया गया है।  श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास जी ने इसकी घोषणा करते हुए बताया कि अब पूरी तरह से सभी बधाएं हटा दी गई है। जिसके बाद मंदिर का निर्माण कार्य शुरू होगा वैसे कोरोना संकट के चलते कम लोगो से ही काम की शुरूआत की गई है। जिससे कोरोना से बचा जा सके वैसे मंदिर की शिला पहले से ही तैयार है बस इन्हे गर्भग्रह में लाकर स्थापित करना होगा। इस दौरान वो भावुक भी हो गये क्योंकि खुद उन्होंने प्रण लिया था कि जबतक राममंदिर में आने वाली दिक्कतें खत्म नही हो जायेगी वो राम लला के दर्शन नही करेंगे, लेकिन आज सारी बाधांए दूर हो चुकी है राम मंदिर निर्माण का काम शुरू हो गया है। गौरतलब है कि मंहत नृत्य गोपाल जी ने इससे पहले बाबरी मंदिर विध्वन्स के वक्त राम जी के दर्शन किये थे यानी की 28 साल बाद एक भक्त अपने भगवान से मिला जिसके चलते वो इतना भावुक हो गये कि अपने आंसू भी न रोक सके खुद उन्होंने कहा कि भगवान राम के दर्शन करने जरूर आना चाहिये।

मंदिर निर्माण के लिये खुलकर लोग कर रहे दान

प्रभू राम का मंदिर भव्य और विशाल बने इसके लिये पैसे की कोई दिक्कत न आये इसके लिये देश की जनता दिल खोलकर दान भी दे रही है. यही वजह है कि देश में लॉकडाउन और कोरोना संकट के बीच भी श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट में दान से भक्त पीछे नहीं रहे हैं। लॉकडाउन की इस अवधि में ट्रस्ट के दोनों खातों में करीब 4.60 करोड़ रुपये जमा किए गए हैं। राम मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने बताया कि हमें विश्वास है कि मंदिर के लिए पैसों की कोई कमी नहीं होगी। लोग इस प्रोजेक्ट के लिए बड़ी रकम दान में दे रहे हैं और हम यह सुनिश्चित करेंगे कि जिस मंदिर का निमार्ण किया जाएगा, वह भव्यता में अतुलनीय हो। ट्रस्ट द्वारा मार्च में अपने बैंक खातों की घोषणा की गई थी, ताकि लोग ई-बैंकिंग के माध्यम से दान देने में समर्थ रहे। यूपीआई, आरटीजीएस प्रणाली और बैंक ट्रांसफर का उपयोग करके ट्रस्ट खातों में दान किया गया है और अब तक 5000 से अधिक लोग दान कर चुके हैं। जैसे-जैसे मंदिर निर्माण का काम आगे बढ़ेगा वैसे-वैसे दान देने वालों की संख्या में भी इजाफा होगा।

 

सच में आज का दिन देश के इतिहास में वो खास छाप छोड़ गया है जिसके लिये सभी लोगों को इंतजार था । और सभी बस इस इंतजार में दिन बिता रहे थे कि वो शुभ घड़ी कौन सी होगी जिस दिन राम मंदिर का निर्माण शुरू होगा लेकिन कहते है न कि मन बड़ा चंचल है अब उसे उस पल का इंतजार है जब राम मंदिर सकार रूप में सामने होगा । लेकिन राम जी वो दिन भी जल्द ही लाएंगे इस विश्वास के साथ जय श्री राम ………..