फेस्टिव सीजन में मंदी के दावे हुए गायब, 6 दिनों में हुआ 21 हज़ार करोड़ का कारोबार

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

देश में आर्थिक मंदी का दावा करने वाले कुछ लोगो के पास शायद फेस्टिव सीजन में बिक्री के आंकड़े देखने के बाद कोई जवाब न हो।

टॉप ई-कॉमर्स कंपनियां अमेजन और फ्लिपकार्ट ने कहा कि नए कंज्यूमर्स के दम पर त्योहारी बिक्री के पहले चरण में रिकार्ड वृद्धि दर्ज की गयी है। अमेज़न और फ्लिपकार्ट के नेतृत्व में, भारत में ई-कॉमर्स कंपनियों ने 29 सितंबर से 4 अक्टूबर तक त्योहारी बिक्री के पहले छह दिनों में लगभग 21,000 करोड़ रुपये का सकल कारोबार किया है। वालमार्ट के स्वामित्व वाली फ्लिपकार्ट और अमेजन की इसमें 90 फीसद हिस्सेदारी रही। बेंगलुरु की रिसर्च फर्म रेडसीयर कंसल्टेंसी ने यह जानकारी दी है। इससे पहले, चार अक्टूबर को प्री-बुकिंग खुलते ही सैमसंग के 1.65 लाख रुपये की कीमत वाले गैलेक्सी फोल्ड मॉडल के 1600 फोन मात्र 30 मिनट में बिक गए थे।

Claims of recession disappear in festive season

बेंगलुरु की रिसर्च फर्म का कहना है कि फेस्टिव सीजन की जैसी शुरुआत हुई है, उसकी गति को देखते हुए, अक्टूबर के पूरे महीने में, ऑनलाइन बिक्री 42,000 करोड़ रुपये तक होने की उम्मीद की जा रही है, जो अमेज़ॅन और फ्लिपकार्ट द्वारा सयुक्त रूप से किया जा सकता है। रेडसियर कंसल्टिंग के फाउंडर और सीईओ अनिल कुमार ने कहा, ‘फेस्टिव सेल इवेंट की पहली लहर में चुनौतीपूर्ण मैक्रो एनवायरमेंट के बावजूद लगभग 21,000 करोड़ का रिकॉर्ड जीएमवी(Gross Merchandise Value) देखा गया है।

त्योहारी बिक्री अवधि के दौरान पिछले वर्ष की तुलना में 30 प्रतिशत की वृद्धि थी, जिसमें टियर II और III शहरों में ग्राहकों की महत्वपूर्ण हिस्सेदारी थी। बिक्री के मामले में मोबाइल सेगमेंट सबसे ऊपर रहा, जिन्होंने उत्सव के दिनों में GMV का 55 प्रतिशत से अधिक योगदान दिया। त्योहारी बिक्री के मौसम के लिए उपभोक्ताओं ने अपने मोबाइल की खरीदारी में देरी की, जो त्यौहारों के दिनों में मजबूत ” शॉपिंग वैल्यू ” का संकेत देता है।

अकेले फ्लिपकार्ट ने बिक्री के दौरान 60-62 प्रतिशत ग्रॉस जीएमवी शेयर के साथ GMV के मामले में त्योहारी बिक्री करने में टॉप पर रहा, और उसके अन्य समूह संस्थाओं (Myntra और Jabong) को भी शामिल करने पर लगभग 63 प्रतिशत की हिस्सेदारी रही। फ्लिपकार्ट ने यह बाजी मोबाइल बिक्री के दम पर अपने नाम की। ग्राहकों ने अच्छी डील को देखते हुए किस्तों में खरीदने का विकल्प भी खूब आजमाया। अमेजन के कारोबार में मूल्य के आधार पर पिछले साल के मुकाबले 22 फीसद की वृद्धि दिखी।

फ्लिपकार्ट ने बताया कि इस फेस्टिव सेल में पिछले साल के मुकाबले नए ग्राहकों की संख्या में करीब 50 प्रतिशत की वृद्धि हुई। छह दिन चली सेल में वेबसाइट पर 70 अरब व्यू मिले। टीयर-2 और अन्य छोटे शहरों से खरीदारों की संख्या में 50 फीसद की वृद्धि हुई। वहीं टीयर-3 शहरों से बिक्री दोगुनी हो गई। फ्लिपकार्ट के करीब 50 फीसद टॉप सेलर्स की बिक्री चार गुना तक हो गई। इस सेल में 40 फीसद से ज्यादा विक्रेता टीयर-2 शहरों व अन्य कस्बों से रहे।

अमेजन का दावा है कि उसके प्लेटफॉर्म पर ग्रेट इंडियन फेस्टिवल सेल के दौरान दौरान 500 से ज्यादा शहरों में 65,000 से ज्यादा सेलर्स ने इस प्लेटफॉर्म पर अपना सामान बेचा। करीब 15,000 सेलर्स ऐसे रहे, जिनकी बिक्री दोगुनी हो गई। इस सेल के दौरान 21,000 सेलर्स ने लाखों और करोड़ों में बिक्री की ।

इन दोनों प्लेटफॉर्म पर बड़ी संख्या में टीयर-2 और टीयर-3 शहरों से नए ग्राहक जुड़े। कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स, स्मार्टफोन, फैशन और बड़े घरेलू सामानों की छोटे शहरों व कस्बों में सबसे ज्यादा मांग देखने को मिली।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •