सीआईडी के डीएसपी ने किया बड़ा खुलासा, पीएम की सुरक्षा को लेकर पंजाब पुलिस को खड़ा किया कठघरे में

पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक को लेकर हर दिन नए नए खुलासे हो रहे जरूर है लेकिन हर खुलासे में शक और साजिश की सूई पंजाब पुलिस की कोताही पर ही जाकर रुक रही है। ऐसा ही एक खुलासा और सामने आया है जहां खुद सीआईडी के एक बड़े अधिकारी बता रहे है कि उन्होने इस तरह की घटना घट सकती है इसकी जानकारी पंजाब पुलिस को पहले से ही दी थी।

सीआईडी के डीएसपी ने खोली पंजाब पुलिस की पोल

सीआईडी के डीएसपी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक मामले में फिरोजपुर पुलिस को कठघरे में खड़ा किया है। निजी चैनल के स्टिंग में उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री के सड़क मार्ग से आने की खबर आला अधिकारियों को पहले ही दे दी गई थी। वायरल वीडियो में सीआईडी के डीएसपी कहते दिखे रहे हैं कि इस बात की आशंका थी कि प्रधानमंत्री के सड़क मार्ग से जाने के दौरान अड़चन आ सकती है। यह स्टिंग ऐसे समय में सामने आया है, जब सुरक्षा में हुई चूक का मामला सुर्खियों में छाया हुआ है। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकार की जांच समिति को खारिज कर अपनी निगरानी में कमेटी बनाने की बात कही है। दूसरी ओर, पंजाब सरकार का कहना है कि यदि उनकी गलती हो तो अधिकारियों पर कार्रवाई हो। सुप्रीम कोर्ट इस मामले में सुनवाई कर रहा है। गौरतलब है कि पांच जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पंजाब के फिरोजपुर में एक जनसभा को संबोधित करना था। पीएम का काफिला बठिंडा एयरपोर्ट से फिरोजपुर के लिए निकला। गृह मंत्रालय के अनुसार हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक से लगभग 30 किलोमीटर दूर जब पीएम का काफिला एक फ्लाईओवर पर पहुंचा तो वहां कुछ प्रदर्शनकारियों ने सड़क को अवरुद्ध कर दिया था। जिसमें पीएम का काफिला 20 मिनट तक रुका रहा।

पंजाब सरकार ने नहीं दिया बल के इस्तेमाल का आदेश

इतना ही नही खुद पंजाब पुलिस के अधिकारी भी इस स्टिंग में ये कहते हुए नजर आ रहे है कि सरकार की तरफ से उन्हे बल प्रयोग करने का आदेश नही दिया गया। अगर वो देते तो प्रदर्शनकारियों को हटाया जा सकता था। इतना ही नही दूसरी तरफ पंजाब पुलिस की कोताही इस प्रकार थी कि पीएम के काफिला फंसे होने के बाद भी ये लोग वहां प्रदर्शनकारियों के साथ चाय पीते हुए नजर आय़े जिससे ये साफ पता चलता है कि पीएम की सुरक्षा को लेकर सरकार और पुलिस दोनो ने कोताही बरती है।

इस मामले पर अब कोर्ट ने एक जांच कमेठी बना दी है जो मामले की जांच तह तक जाकर करेगी। लेकिन इतना तो तय है कि चूक पंजाब पुलिस की थी पर साजिश इस में बहुत दूर से की गई थी जिसकी परत जांच के आने के बाद ही पता चलेगा।

Leave a Reply