नहीं रुक रही छपाक से निकली विवाद की बूंदे – स्क्रीनिंग पर लग सकता है रोक

प्रारंभ से ही छपाक फिल्म विवादों में घिरी रही| अब फिल्म के रिलीज़ के बाद भी फिल्म और विवाद का रिश्ता रुकने का नाम नहीं ले रहा है|

कुछ दिनों पहले एसिड अटैक पीडिता लक्ष्मी अग्रवाल (जिनके ऊपर ये फिल्म बनी है) के वकील अपर्णा भट्ट ने कोर्ट में फिल्म निर्माताओं के खिलाफ याचिका दायर की थी| याचिका में आरोप था कि इतने समय तक लक्ष्मी अग्रवाल का वकील रहने और उन्हें इन्साफ दिलाने के लिए जो लड़ाई लक्ष्मी के वकील अपर्णा भट्ट ने लड़ी उसके लिए उन्हें फिल्म में कोई क्रेडिट नहीं दिया गया है|

इस याचिका की सुनवाई के बाद दिल्ली उच्च न्यायालय ने निर्माताओं को निर्देश दिया था कि फिल्म में वकील अपर्णा भट्ट को उपयुक्त क्रेडिट दिया जाये|

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक वकील अपर्णा भट्ट की याचिका के विरुद्ध फिल्म के निर्माता फॉक्स स्टार स्टूडियो ने भी दिल्ली हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की थी| लेकिन जज प्रतिभा एम सिंह ने पूर्व की याचिका पर अपना आदेश सुरक्षित रखते हुए कहा था कि कोर्ट शनिवार की सुबह अपना फैसला सुनाएगी।

आज के फैसले में दिल्ली हाई कोर्ट ने वकील अपर्णा भट्ट (जिन्होंने लक्ष्मी अग्रवाल की कानूनी लड़ाई लड़ी है) को क्रेडिट दिए बगैर फिल्म के रिलीज़ पर रोक लगा दी है| यह रोक मल्टीप्लैक्स में 15 जनवरी से और अन्य लाइव स्ट्रीमिंग प्लैटफॉर्म पर 17 जनवरी से लागू होगी।

उल्लेखनीय है कि महिला वकील ने अपने फेसबुक प्रोफाइल के द्वारा आवाज उठाई थी और कहा था कि फिल्म में कोई क्रेडिट नहीं दिए जाने से वह काफी बहुत परेशान हैं और फिल्म निर्माताओं पर कानूनी कार्रवाई करेंगी। अपर्णा ने लिखा था, “छपाक देखने के बाद की घटनाओं से काफी परेशान हूं। मुझे अपनी पहचान को बचाने और अपनी ईमानदारी को बनाए रखने के लिए कानूनी कार्रवाई करने को मजबूर किया गया। एक समय मैंने पटियाला हाउस कोर्ट में लक्ष्मी का प्रतिनिधित्व किया था| अब वहीँ कोई मेरा प्रतिनिधित्व करेगा, जीवन की अजीब विडंबना है।“ उन्होंने आगे दीपिका और फिल्म के निर्माताओं के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने के बारे में लिखा था।