20 अगस्त को चंद्रमा की कक्षा में पहुंचेगा चंद्रयान 2 – इसरो प्रमुख

An-illustration-of-Chandrayaan-2-orbiter-captured-by-the-Moons-orbit_ISRO | PC - Firstpost

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अध्यक्ष डॉ के सिवन ने सोमवार को कहा कि भारत का दूसरा चंद्र अभियान ‘चंद्रयान -2’ अपनी लॉन्चिंग के 29 दिन बाद, कल यानी मंगलवार 20 अगस्त को चंद्रमा की कक्षा में पहुंचने और चंद्र सतह पर उतरने की उम्मीद है।

सिवन भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम के जनक माने जाने वाले डॉ विक्रम साराभाई के जन्म शताब्दी समारोह में हिस्सा लेने के लिए अहमदाबाद आये हुए थे। उन्होंने कहा कि अंतरिक्ष यान दो दिनों के बाद पृथ्वी की कक्षा छोड़ने के लिए तैयार है।

इसरो प्रमुख ने कहा कि 3,850 किलो वजनी चंद्रयान -2, एक ऑर्बिटर, लैंडर और रोवर से युक्त तीन मॉड्यूल वाला अंतरिक्ष यान है, जो 7 सितंबर को चंद्रमा पर उतरेगा। “22 जुलाई को चंद्रयान -2 को लॉन्च करने के बाद चंद्रयान -2 अब पृथ्वी के चारों ओर घूम रहा है।

सिवन ने कहा कि अंतरिक्ष यान वर्तमान में “बहुत अच्छा कर रहा था” और उसके सभी सिस्टम ठीक से काम कर रहे थे।

चंद्रयान-2 मिशन की निगरानी इसरो के टेलीमेट्री, ट्रैकिंग एंड कमांड नेटवर्क में स्थित मिशन ऑपरेशंस कॉम्प्लेक्स द्वारा किया जा रहा है। इसमें बेंगलुरु में स्थित भारतीय डीप स्पेस नेटवर्क का भी सहयोग लिया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि इसरो के वैज्ञानिक आने वाले महीनों में व्यस्त रहेंगे, खासकर दिसंबर में जब अंतरिक्ष एजेंसी छोटे उपग्रहों को लॉन्च करने के लिए एक मिशन शुरू करेगी। दिसंबर में, हम एक बहुत ही महत्वपूर्ण मिशन के लिए तैयारी कर रहे हैं। यह एक छोटा उपग्रह लांचर है। यह पहली बार है जब हम इस मिशन के लिए जा रहे हैं ।