जुलाई से 1 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाने का केंद्र सरकार ने बनाया प्लान

देश में चल रही वैक्सीन की किल्लत को दूर करने के लिये केंद्र सरकार ने रोडमैप तैयार कर लिया है। जिसके चलते सरकार कयास लगा रही है कि जुलाई के महीने के मध्य से हर दिन देश में एक करोड़ लोगो को वैक्सीन लगाई जा सकेगी। वैसे टीकाकरण की रफ्तार की बात किया जाये तो दूसरे देशों के मुकाबले ये काफी तेज है। लेकिन भारत की आबादी को देखते हुए इसी और गति देना होगा जिससे कोरोना से जंग जीती जा सके।

Getting Your Flu Shot During COVID-19 | Mercy Health Blog

क्या है सरकार की योजना

केन्द्र सरकार ने वैक्सीन कम्पनियों से बात करके ऐसी योजना बनायी है उसके तहत जुलाई के मध्य तक बड़ी संख्या में वैक्सीन देश में उपलब्ध होगी। वैक्सीन की उपलब्धता के आधार पर सरकार ने यह तय किया है कि हर दिन 1 करोड़ लोगों का टीकाकरण किया जाएगा। केन्द्र सरकार के अनुसार जुलाई दूसरे,तीसरे सप्ताह से इसको मुमकिन बनाने की कोशिश। जुलाई के मध्य तक देश की वैक्सीन बनाने की दो बड़ी कम्पनी सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बॉयोटेक की ओऱ से लगभग 25 करोड़ वैक्सीन के उप्तादन का दावा किया गया है। शेष वैक्सीन स्पूतनिक, जायडस कैडिला, बायोलॉजिकल ई, सीरम का नोवैक्स, जेनोवा एम आरएनए शामिल है।

ताकि जल्द हो सके टीकाकरण

केन्द्र सरकार वैक्सीन कम्पनियों के साथ मिलकर एक तरफ अधिक से अधिक वैक्सीन मुहैया कराने पर जोर दे रही है तो दूसरी तरफ वैक्सीन को आम लोगों तक कैसे पहुंचाया जाए इसे लेकर भी बड़े पैमाने पर तैयारी चल रही है। देशभर में अप्रैल के महीने में ही भारत में 75 हजार टीकाकरण के केंद्र है। इन केन्द्रों पर सोच 100- 150 टीके हर केंद्र पर देने को लेकर योजना। सरकार का दावा है कि एक करोड़ के लक्ष्य को पूरा करने के लिए यदि जरुरत पड़ी तो औऱ भी सेंटर बढाए जा सकते हैं। उधर जानकारो की माने तो कोवीशील्ड की ओऱ से सिंगल डोज वैक्सीन को लाने पर मंथन हो रहा है। इसके लिए बहुत तेजी से काम चल रहा है। साथ ही सिंगल डोज वैक्सीन के लिए वैज्ञानिक साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं।

दूसरी तरफ जिन राज्यो में वैक्सीन के बर्बादी के मामले आ रहे है उनसे भी सरकार लगातार अपील कर रही है कि कम से कम वैक्सीन बर्बादी हो जिससे अधिक से अधिक लोगो तक डोज पहुंच सके और कोरोना के खिलाफ जंग जीती जा सके। ऐसे में देश की हर सरकार पर इस बारे में सोचना चाहिये और एक मिसाल कायम करनी चाहिये कि वो वैक्सीन की एक बूंद भी खराब नही होने देंगे।