साल के अंत तक देश के हर नागरिक के वैक्सीनेशन का सरकार ने बनाया प्लान

कोरोना महामारी की दूसरी लहर से देश तेजी के साथ जंग लड़ रहा है। लेकिन इस बीच सभी का मानना है कि कोरोना पर जीत तभी मिल पायेगी जब देश के हर नागरिक को वैक्सीनेशन पूरा हो जायेगा। इसके लिये मोदी सरकार ने साल की शुरूआत से ही कमर कस रखी है। लेकिन अब सरकार की माने तो इस साल के अंत तक पूरी आबादी के टीकाकरण करने की रणनीति बना रही है।

Vaccination for those above 45 yrs of age resumes in Mumbai today |  Hindustan Times

वैक्सीनेशन पर सरकार की रणनीति

सरकार की माने तो देश के लोगों के लिए देश में पांच महीनों में दो अरब खुराक बनाई जाएंगी। जिसके तहत 55 करोड़ डोज कोवैक्सीन, 75 करोड़ कोविशील्ड, 30 करोड़ बायो ई सब युनिट वैक्सीन, 5 करोड़ जायडस कैंडिला डीएनए, 20 करोड़ नोवावैक्स, 10 करोड़ भारत बायोटेक नेजल वैक्सीन, 6 करोड़ जिनोवा, और स्पूतनिक V की 15 करोड़ डोज़ उपलब्ध होंगी। वही  फाइजर, मॉडर्न और जॉनसन एंड जॉनसन से सरकार ने पूछा है कि वो वैक्सीन बाहर से भेजेगे या फिर भारत में ही इसका निर्माण करेंगे। इस तरह देश में तेजी से वैक्सीन का निर्माण का खाका तैयार किया गया है जिससे वैक्सी संकट को खत्म किया जा सके।

टीकाकरण हर दिन छू रहा नया मुकाम

वही दूसरी तरफ भारत में अभी तक 18 करोड़ से ज्यादा लोगो के वैक्सीनेशन का काम हो चुका है। टीकाकरण अभियान के चलते 118 वें दिन भारत में 19 लाख 75 हजार डोज लगाई गई सरकार की माने तो अबतक 18से 44 के बीच वाले लोगों 39.14 लाख को डोज लगाई जा चुकी है। इसके अलावा 60 साल के ऊपर वाले लोगों को 5.42 करोड़ की पहली और 1 करोड़ से ज्यादा लोगो को दूसरी डोज लगाई जा चुकी है।  वही 60-45 साल के बीच वालो को लगभग 5.65 करोड़ पहली डोज तो 85.14 लाख लोगो को दूसरी खुराक दी जा चुकी है।जो ये साफ तौर पर बताता है कि सरकार टीकाकरण को लेकर कितनी सजग है वही आज सरकार ने रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-वी की एक खुराक की कीमत भी तय कर दी है। सरकार की माने तो ये वैक्सीन देश में करीब 995 रूपये के करीब होगी वैसे ये वैक्सीन एक ही लगवानी होगी। दूसरी तरफ सरकार की माने तो देश में इस वैक्सीन का उत्पादन एक दो महीने में शुरू होगा जिसके बाद इसके दामों में कमी देखी जा सकती है।

हालाकि इस बीच वैक्सीनेशन को लेकर सियासत की डोज भी बहुत तेजी से देशवासियों के बीच में घोली जा रही है। हालांकि  देशवासी अफवाहो की इस डोज को दर किनारे करते जा रहे है लेकिन इसके बाद भी कुछ लोग भ्रम फैलाकर वैक्सीन की कमी का रोना रोकर देश की सरकार को बदनाम करने में लगे है पर मुझे यकीन है कि वो इस आपदा के वक्त देश एक जुट होकर कोरोना को हराकर दिखायेगा।