सुंदर पिचई के CEO बनते ही Alphabet ने हासिल की उपलब्धि, बनी 1 लाख करोड़ डॉलर मार्केट कैप वाली अमेरिका की चौथी कंपनी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Google ने घोषणा की है कि है कि यदि पिचई अपने प्रदशर्न लक्ष्य को हालिस करते हैं तो उन्हें तीन सालों में 24 करोड़ डॉलर मूल्य के शेयर दिए जाएंगे इसके साथ ही साथ 2020 से उन्हें सालाना 20 लाख डॉलर की सैलरी दी जाएगी।

सैन फ्रांसिस्‍को। सुंदर पिचई के नेतृत्‍व वाली गूगल की पैरेंट कंपनी अल्‍फाबेट अब 1 लाख करोड़ डॉलर के मार्केट कैप वाली कंपनियों की सूची में शामिल हो गई है। इस सूची में एप्‍पल, माइक्रोसॉफ्ट और अमेजन पहले तीन स्‍थान पर काबिज हैं। अब अल्‍फाबेट ऐसा करने वाली अमेरिका की चौथी कंपनी बन गई है।

सीएनबीसी के अनुसार, विश्‍लेषक कंपनी के नवनियुक्‍त सीईओ सुंदर पिचई को लेकर काफी उत्‍साहित हैं। अल्‍फाबेट की संस्‍थापक लैरी पेज और सर्गी ब्र‍िन ने पिछले साल दिसंबर में कंपनी छोड़ने की घोषणा की थी और पिचई को अल्‍फाबेट व गूगल दोनों कंपनियां का सीईओ बनाया था।

पेज और ब्रिन दोनों सह-संस्‍थापक, शेयर धारक और अल्‍फाबेट के बोर्ड ऑफ डायरेक्‍टर्स के सदस्‍यों के रूप में कंपनी से जुड़े रहेंगे। पिचई ने 2004 मे गूगल को ज्‍वॉइन किया था। उन्‍होंने गूगल टूलबार और इसके बाद गूगल क्रॉम के विकास में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई। गूगल क्रॉम दुनिया का सबसे लोकप्रिय इंटरनेट ब्राउजर बन चुका है।

पिचई के नेतृत्‍व में गूगल ने एआई की नवीनतम तकनीक द्वारा संचालित उत्‍पादों और सेवाओं के विकास पर ध्‍यान केंद्रित किया है। कंपनी ने घोषणा की है कि है कि यदि पिचई अपने प्रदशर्न लक्ष्‍य को हालिस करते हैं तो उन्‍हें तीन सालों में 24 करोड़ डॉलर मूल्‍य के शेयर दिए जाएंगे इसके साथ ही साथ 2020 से उन्‍हें सालाना 20 लाख डॉलर की सैलरी दी जाएगी।

Originally published at https://www.indiatv.in/

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •