BRO ने वो कर दिखाया जिसका सालों से था इतंजार

भारत के पश्चिम में पाकिस्तान तो पूर्व में चालबाज चीन की सीमा मिलती है जहां ये दोनो देश कुटिल चाल चलकर भारत के राज्यो में अमन के महौल को बिगाड़ना चाहते हैं। लेकिन फौज उन दोनो पड़ोसी मुल्को  को मुंह तोड़ जवाब देने में लगी हुई है। और इसमें BRO  यानी बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन का बहुत बड़ा रोल रहा है। जिसने फौज के रास्तो में आनी वाली पथरीली पगडंडियों को स्मूथ रोड में बदल दिया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जम्मू में सीमा सड़क संगठन (BRO) द्वारा बनाए गए 6 नए पुलों का उद्घाटन किया

रिकार्ड समय में BRO ने पाक से सटी सीमा में तैयार किये पुल

जैसा कि सभी को पता है कि पाक लगातार सीजफायर के उल्लंघन करने में लगा है जिसके चलते सीमा में हमेशा तनाव का महौल देखा जाता है। लेकिन इसके बावजूद भी भारत की BRO ने दिन रात काम करके सीमा के करीब कई सड़को का निर्माण किया है। इतना ही नही महज 6 महीने के अंदर इस इलाके में सेना के लिए रिकार्ड 6 पुलों को भी बनाया गया है। जिसके बाद सेना अब ऊंची पहाड़ियों तक रसद तो भारी भरकम अस्त्र भी ले जा सकती है जिससे दुश्मन के दाँत खट्टे किए जा सके। इतना ही नही इन सड़को और पुल के बन जाने के बाद इस इलाके में आर्थिक गतिविधियों को भी बढ़ावा मिलेगा। जानकारो की माने तो BRO VS  आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल कर के पिछले दो साल में 2200 किलोमीटर की रोड की कटिंग की है और लगभग 4200 किलोमीटर की सड़कों की सर्फेसिंग की गई  आजादी के बाद अबतक का सबसे तेज काम माना जा रहा है। इसके अलावा कुल 5800 मीटर स्थायी पुल तैयार किए है. कोरोना के बावजूद बीआरओ ने अपने काम को लगातार जारी रखा. उत्तर पूर्व राज्यों हिमाचल, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में सीमावर्ती इलाक़ों में सड़कें और पुल बनाने के काम को जारी रखा।

बेहद अहम हैं ये पुल

जम्मू-कश्मीर में बनाए गए 6 पुलों में से 160 मीटर लंबा तरनाह-1 और 300 मीटर लंबा तरनाह 2 सहित चार पुल बलवान, घोडावाला, पहाड़ीवाला और पनियाली पुल का उद्घाटन किया गया. इन पुलों के जरिए तकरीबन 217 गांव के 4 लाख से ज़्यादा लोगो को आवाजाही में आसानी होगी, साथ ही सैन्य सामानों और रोज़मर्रा के इस्तेमाल में लाए जाने वाली चीज़ें अब और आसानी से दूरदराज़ के इलाक़ों तक पहुंचाया जा सकेगा। इतना ही नही अब घाटी के इलाके 12 महीने देश के दूसरे राज्यो से जुड़े रहेंगे। जिससे इन इलाको का विकास भी संभव है। वैसे सिर्फ जम्मू में ही नही बल्कि इसी तरह लद्दाख में भी BRO लगातार सड़क बना कर देश के अतिंम गांव या जिलों को देश से जोड़कर विकास की मुख्य धारा में ला रही है। तो सेना के पैर भी मजबूत कर रही है क्योंकि अब सेना को इन इलाको के जरिये देश के दुश्मनो को मुंह तोड़ जवाब देने में वक्त नही लगेगा।

कुल मिलाकर पहले की सरकार जहां पहले इन सड़को की तरफ ध्यान नही देती थी वही मोदी सरकार देश की सीमा की सुरक्षा के लिए इन सड़को पर विशेष ध्यान तो दे रही है बल्कि नई नई योजनाओ के जरिये तेजी से सड़क बनाने का काम भी कर रही है। जिसमें BRO  सबसे तेज गति से काम करके नये भारत का सपना सकार करने में लगी है