नए दशक में ब्रांड इंडिया को नई पहचान देनी है- पीएम मोदी

साल की शुरूआत युवाओं को अपने करियर को नई संभावनाओं से जोड़ने का संदेश देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि नए दशक में ब्रांड इंडिया को नई पहचान देनी है। देश के युवाओं को ये दिखा देना है कि ये दशक भारत की है और भारत किस तरह से अपनी महान संस्कृति के दम पर एक बेहतर विश्व का निर्माण कर सकता है जिसपर सभी को गर्व महसूस हो सके।

Image

नए निर्माण के साथ सबके समावेश पर जोर

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘संबलपुरी टेक्सटाइल देश दुनिया में मशहूर है। देश को नई संभावनाओं के लिए तैयार रहना चाहिए। साल 2013 तक देश में 13 IIM थे लेकिन अब 20 हैं। देश के नए क्षेत्रों में नए अनुभव लेकर निकल रहे मैंनेजमेंट एक्सपर्ट भारत को नई ऊंचाई पर ले जाने में बड़ी भूमिका निभाएंगे। इस साल भारत ने कोविड संकट के बावजूद बीते सालों की तुलना में ज्यादा यूनिकॉर्न दिए हैं। बीते दशक में एक नया ट्रेंड देश ने ये भी देखा कि बाहर बने मल्टी नेशनल बड़ी संख्या में आए और इसी धरती में आगे भी बढ़े।’

ग्लोबल विलेज से ग्लोबल वर्कप्लेस में बदली दुनिया

पीएम मोदी एक बार फिर दोहराया कि पूरी दुनिया ग्लोबल विलेज से ग्लोबल वर्कप्लेस में बदल गई है। भारत ने भी इसके लिए हर जरूरी रिफॉर्म्स बीते कुछ महीनों में तेजी से किये है जिसका असर भी देखा जा रहा है। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज लोकल को ग्लोबल बनाने का वक्त आ गया है। ये शताब्दी भारत की है आज दुनिया भारत की ओर बड़े उत्साह से देख रही है ये सदी भारत में निर्माण की सदी है। ज्यादातर स्टार्टअप टियर2 और टियर 3 शहरों में शुरू हो रहे हैं जो एक बड़े बदलाव की निशानी है।

Image

कोरोना काल में भारत कई मामलों में आत्मनिर्भर बना

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान देश ने नए मुकाम हासिल किए हैं। कई क्षेत्रों में भारत आत्मनिर्भर हुआ है। N-95 जैसे गुणवत्तापूर्ण मास्क, सैनेटाइजर, पीपीई किट और वेंटिलेटर्स आदि के निर्माण में क्रांतिकारी काम हुआ। इन क्षेत्रों में आज भारत आत्म निर्भर हो चुका है। इसके साथ साथ देश में नकरात्मकता की जगह सकरात्मकता का दौर देखा जा रहा है। आज हर वक्ति ये बोल रहा है कि ये काम जरूर हो सकता है। तभी तो कोरोना के दौरान लॉकडाउन के बाद हम तेजी से अपनी अर्थव्यवस्था का पहिया घूमा सके। छोटे से छोटा और बड़े से बड़ा करोबारी आज देश को मजबूत करने के लिये काम कर रहा है जिसका सहयोग सरकार कर रही है और इसी का नतीजा है कि आज हमारा देश आत्मनिर्भर बनता जा रहा है। तभी तो देश में सुशासन वाली सरकार के स्थायी समाधान देने की नीयत का ये नतीजा है कि आज देश में 28 करोड़ से ज्यादा गैस कनेक्शन हैं आंकड़ों के मुताबिक साल 2014 से पहले देश में 14 करोड़ गैस कनेक्शन थे, जो ये बता रहे है कि नये भारत में काम की क्या स्पीड है।

नवभरत के निर्माण के निर्माण आज जिस तरह से मोदी सरकार काम कर रही है उसकी कितनी भी तारीफ की जाये वो कम है लेकिन ये तो है कि आज देश बदल चुका है और देश की जनता पीएम मोदी के साथ देश को बदलने में लगी हुई है।