बीजेपी के इस प्रत्याशी ने चुनावी इतिहास में दूसरी सबसे बड़ी जीत हासिल की

17वीं लोकसभा चुनाव के लिए मतगणना होने के बाद रिजल्ट जारी होते ही भाजपाईयों के चेहरे खिल उठे। कारण, एक बार फिर से लोकसभा चुनाव में भाजपा ने प्रचंड जीत हासिल की है। उत्तर प्रदेश में भाजपा ने 80 में से 62 सीटें जीतकर सपा-बसपा और रालोद के गठबंधन को करारा झटका दिया। और देश भर में भाजपा ने अकेले 303 सीटों पर सफलता हासिल किया है।

BJP_s_Chandrakant_Raghunath_Patil

इस बीच देशभर में पीएम मोदी की वाराणसी से और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की गुजरात के गांधीनगर से बंपर जीत को लेकर भी लोगों में उत्साह है। लेकिन भाजपा का एक ऐसा भी नेता हैं जिन्हें पीएम मोदी और अमित शाह से भी ज्यादा वोट मिले हैं। इतना ही नहीं, इस भाजपा उम्मीदवार ने ऐतिहासिक जीत हासिल की है। भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी चंद्रकांत रघुनाथ पाटिल ने गुजरात की नवसारी लोकसभा सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी को 6.89 लाख वोटों से हराया है। वोटों का यह अंतर 2019 चुनाव में सबसे बड़ा है। वहीं, यह भारतीय चुनाव इतिहास में दूसरी सबसे बड़ी जीत है। यह आंकड़ा प्रीतम मुंडे को अक्टूबर 2014 में महाराष्ट्र की बीड सीट पर हुए उप चुनाव में मिली 6.96 लाख वोटों के अंतर से जीत से थोड़ा ही कम है। बता दें कि पूर्व केंद्रीय मंत्री गोपीनाथ मुंडे की मृत्यु के बाद इस सीट पर उनकी बेटी ने चुनाव लड़ा था।

आपको बता दें की पाटिल का जन्म 1955 में महाराष्ट्र के जलगाँव में हुआ था। पेशे से एक कृषक और व्यवसायी, पाटिल ने सूरत में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में अध्ययन किया। वह 1989 में भाजपा में शामिल हुए और तब से पार्टी में कई प्रतिष्ठित पदों पर हैं।

पाटिल ने पीएम नरेंद्र मोदी को वाराणसी में मिली जीत के अंतर को भी पीछे छोड़ दिया है। इस बार पीएम नरेंद्र मोदी को यहां 4 लाख 80 हजार वोटों से जीत मिली है। वहीं, पार्टी के ही नेता वीके सिंह ने भी मोदी का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। गाजियाबाद लोकसभा सीट से जीतने वाले भाजपा प्रत्याशी जनरल वी.के सिंह को 9,44,503 वोट मिले। आपको बता दें की 2014 लोकसभा चुनाव में वी.के सिंह को गाजियाबाद से ही 7,58,482 वोट मिले थे। वहीं इस बार वाराणसी से पीएम मोदी को 6,74,664 वोट, जबकि अमित शाह को गुजरात के गांधी नगर में 8,89,925 वोट प्राप्त हुए।

गौरतलब है की 2014 लोकसभा चुनाव में जनरल वीके सिंह ने 7.58 लाख वोट हासिल कर कांग्रेस के उम्मीहदवार राज बब्बर को पांच लाख से ज्यादा वोटों से शिकस्त दी थी। जो पिछले आम चुनाव में देश की दूसरी सबसे बड़ी जीत थी।वहीं इस बार भी वी.के सिंह ने पांच लाख से अधिक मतों के अंतर से जीत हासिल कर रिकॉर्ड जीत दर्ज की है। साथ ही इस सीट से यह लगातार दो बार जीतकर सांसद बनने वाले नेता भी बन गए हैं। जनरल वीके सिंह ने समाजवादी पार्टी के नेता सुरेश बंसल को गाजियाबाद सीट पर शिकस्त दी। पाटिल के अलावा बीजेपी के ही संजय भाटिया, कृष्ण पाल और सुभाष चंद्र बहेरिया ने भी 6 लाख से ज्यादा वोटों के अंतर से चुनावी जीत दर्ज की है।

भाजपा के इस प्रचंड बहुमत में पार्टी के एक दर्जन से ज्यादा प्रत्याशी 5 लाख से ज्यादा मार्जिन से जीते हैं। जीत का सबसे कम मार्जिन यूपी के मछलीशहर से जीते बीजेपी कैंडिडेट बीपी सरोज का है। जिन्होंने महज 181 वोटों से अपने विरोधी प्रत्याशी को शिकस्त दी। वहीँ पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी के वेटरन नेता लालकृष्ण आडवाणी का 2014 में मिली 4 लाख 83 हजार वोटों से जीत का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। अमित शाह ने गांधीनगर सीट से पहली बार चुनावी मैदान में उतारकर 5.57 लाख वोटों के अंतर से जीत दर्ज की है।

इस तरह लोक सभा चुनाव 2019 में सबसे ज्यादा वोट पाने वालें नेताओं में सभी भाजपा से ही हैं :

1) सीआर पाटिल- 9,72,000
2) वी.के सिंह- 9,44,503
3) कृष्णा पाल- 9,13,222
4) अमित शाह- 8,89,925