काशी नगरी में रोड शो के दौरान पीएम मोदी पर बरसेंगे 25 क्विंटल फूल, 26 को करेंगे नामांकन

सांकेतिक तस्वीर

उत्तरप्रदेश की वाराणसी लोकसभा सीट पर नामांकन से पहले 25 अप्रैल को काशी नगरी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रस्तावित मेगा रोड शो का गवाह बनेगा| इसके बाद 26 अप्रैल को प्रधानमंत्री वाराणसी लोकसभा सीट के लिए नामांकन भरेंगे|

25 अप्रैल को होने वाले रोड शो को भव्य और ऐतिहासिक बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने पूरी प्लानिंग कर ली है| जहाँ, 25 अप्रैल को होने वाले रोड शो के लिए 150 से ज्यादा सामाजिक संगठनों द्वारा स्वागत किया जाएगा| तो वहीं, रोड शो में शहनाई, शंख और डमरु से स्वागत और शुरुआत होगा, इस बीच कलाकार सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत करते हुए चलेंगे|

जहाँ पीएम मोदी के रोड शो में छह राज्यों के मुख्यमंत्री, गृहमंत्री, विदेश मंत्री और केंद्रीय मंत्रिमंडल के मंत्रियों समेत कुल 52 वीआईपी शामिल होंगे| वहीं दुसरे तरफ, 26 अप्रैल को पीएम मोदी द्वारा नामांकन दाखिल करने के दौरान सुखबीर सिंह बादल, नीतीश कुमार, उद्धव ठाकरे समेत एनडीए के दिग्गज नेता भी मौजूद होंगे|

25 अप्रैल को काशी नगरी पहुंचेंगे मोदी

मिली जानकारी के मुताबिक, प्रधानमंत्री 25 अप्रैल को दोपहर दो बजे बाबतपुर एयरपोर्ट पहुंचेंगे| इसके बाद हेलीकॉप्टर से बीएचयू स्थित हेलीपैड पर उतरने के बाद कार से लंका चौराहे आएंगे| दोपहर में तीन बजे लंका चौराहे पर महामना मदन मोहन मालवीय की प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद वे अपने रोड शो की शुरुआत करेंगे| कुल 7 किलोमीटर का ये रोड शो अस्सी, सोनारपुरा होते हुए दशाश्वमेध घाट तक जाएगा|

शाम को होने वाली गंगा आरती में प्रधानमंत्री सहित सभी वीआईपी हिस्सा लेंगे| घाट पर प्रधानमंत्री को दिखाने के लिए भाजपा की ओर से प्रदेश सरकार ने विभिन्न योजनाओं की प्रदर्शनी भी नाव पर लगाने की तैयारी की है| मालूम हो कि, वाराणसी में 19 मई को चुनाव होने है|

modi
सांकेतिक तस्वीर

फूल से सजी खुली गाड़ी में चलेंगे पीएम मोदी

रोड शो के दौरान पीएम मोदी गुलाब और गेंदे के फूल से सजी खुली डीसीएम में चलेंगे| जिसे पार्टी ने ‘कमल रथ’ के तौर पर तैयार करने का फैसला लिया है| करीब सात किलोमीटर लंबे रोड-शो में 101 स्थानों पर पीएम के स्वागत की तैयारी है| इस बीच रास्ते भर में विभिन्न राज्यों व संस्कृति के पहनावा धारण किए लोग गुलाब के फूल मालाओं से प्रधानमंत्री का स्वागत करेंगे|

10 प्रमुख स्थानों पर दिखेगा लघु भारत

भाजपा के काशी क्षेत्र के अध्यक्ष महेश श्रीवास्तव का कहना है कि लंका से दशाश्वमेध तक 10 प्रमुख स्थानों पर लघु भारत दिखेगा| इसमें देश के विभिन्न राज्यों की संस्कृति की झलक देखने को मिलेगी| विभिन्न राज्यों के जो लोग वाराणसी में रहते हैं. वो अपने पारंपरिक वेष-भूषा में प्रधानमंत्री का स्वागत करेंगे|

101 स्थान पर बनेगा स्वागत द्वार

प्रधानमंत्री के रोडशो के लिए 101 स्वागत द्वार बनाए जा रहे है| इन सभी स्थानों पर लोग उनका स्वागत करेंगे| तैयारी है कि रोड शो के दौरान सड़क के दोनों किनारे की दुकानों के संचालकों को भाजपा की ओर से गुलाब की पंखुड़ियां दी जाएंगी, जिससे वो गुजरने वाले रोड शो पर पुष्पों की वर्षा करेंगे| इसके लिए करीब 25 क्विंटल फूलों का इंतजाम भी किया गया है|

modi
सांकेतिक तस्वीर

3000 लोगों के साथ डिनर करेंगे मोदी

25 अप्रैल की रात, रोड शो के बाद कैंटोन्मेंट स्थित होटल डी पेरिस में पीएम मोदी 3000 हजार लोगों के साथ भोजन करेंगे| जिसमे वाराणसी के विभिन्न तबके के लोग शामिल होंगे| इसके अलावा इस दौरान पीएम मोदी 26 अप्रैल की सुबह पार्टी के 5000 बूथ व सेक्टर कार्यकर्ताओ को सन्देश देंगे और साथ ही उनसे फीडबैक लेने का भी काम करेंगे|

ये हो सकते है प्रस्तावक

पार्टी के तरफ से अभी इस बात पर मुहर नहीं लगी है कि नामांकन के दौरान पीएम मोदी के प्रस्तावक कौन होंगे| हालाँकि कई मीडिया रिपोर्ट्स के सूत्रों के हवाले से यह खबर है कि इस बार डोम राजा, बिस्मिल्लाह खां के भतीजे पीएम मोदी के प्रस्तावक हो सकते हैं| आठ नामों की सूची बनाकर संगठन के केंद्रीय नेताओं को भेज दी है| इनमें डोम राजा के साथ तीन तलाक के मुद्दे को उठाने वाली एक महिला, बीएचयू आईएमएस की पूर्व निदेशक, उस्ताद बिस्मिल्लाह खान के भतीजे, एक मल्लाह, पटेल समाज के अध्यक्ष समेत आठ नाम शामिल है|

पीएम मोदी दोपहर 3 बजे करेंगे रोड शो की शुरुआत

उधर, मंगलवार को वाराणसी में मीडिया सेंटर के उद्घाटन के मौके पर इस बात की पुष्टि करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि, ‘2014 में मोदी जी काशी से जीते और इन 5 सालों में उन्होंने यहां ढेर सारे काम किए। फिर एक बार वो यहां से चुनाव लड़ रहे हैं। 26 अप्रैल को सुबह 11:30 बजे लगभग पीएम मोदी यहां से नामांकन भरेंगे। इससे पहले 25 को दोपहर 3 बजे से शाम 7 बजे तक भव्य रोड शो का आयोजन किया जाएगा।’