ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हमले के बाद बीजेपी और अकाली दल ने CAA को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना

पाकिस्तान के ननकाना साहिब गुरूद्वारे पर हुए हमले और तोड़-फोड़ के घटना का असर भारत के राजनीतिक हलकों में भी दिखने लगा है| भारतीय जनता पार्टी और उसके सहयोगी दलों ने इस घटना के बाद कांग्रेस पर CAA को लेकर निशाना साधा है| क्योंकि ये मुद्दा सीधा-सीधा पाकिस्तान के अल्पसंख्यकों से जुड़ा है|

बीजेपी और अकाली दल ने कांग्रेस को घेरा

नागरिकता कानून (CAA) को लेकर कांग्रेस के विरोध का सामना कर रही सत्ताधारी पार्टी बीजेपी को पाक में घटी ननकाना साहब हमले की घटना ने पलटवार करने का मौका दे दिया।

शनिवार को बीजेपी के साथ ही पंजाब में उसके सहयोगी अकाली दल ने कांग्रेस को नागरिकता कानून के विरोध पर घेरा। बीजेपी ने कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए कहा कि इस घटना से पता चलता है कि देश में नागरिकता संशोधन कानून की कितनी जरूरत है।

अकाली दल की नेता और कैबिनेट मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने भी कांग्रेस पर हमला बोला है। ननकाना साहिब में हुई पत्थरबाजी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि, “पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों का उत्पीड़न एक वास्तविकता है। पाकिस्तान ने आज गुरुद्वारा श्री ननकाना साहिब पर हुए हमले में अपना भयानक चेहरा दिखाया है। मैं सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह और कांग्रेस से पूछना चाहती हूं कि वह ऐसे उत्पीड़ित अल्पसंख्यकों को अधिकार देने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी के महान कार्य का विरोध कैसे कर सकते हैं?”

भारत में अकाली दल ने ननकाना साहिब हमलों के बाद शुरू किया विरोध प्रदर्शन

ननकाना साहिब पर हमलों के बाद भारत के सिख समुदाय में गहरा गुस्सा देखा जा रहा है। इस अशोभनीय घटना के विरोध में सिखों ने शनिवार को दिल्ली पोस्टर-बैनर के साथ सड़क पर प्रतिरोध किया। पाकिस्तान उच्चायोग के सामने प्रदर्शन कर रहे सिखों का प्रतिनिधित्व कर रहे अकाली दल नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने बताया कि सिख पकिस्तान उच्चायोग को ज्ञापन देने जा रहे हैं।

सिसरा ने इस घटना को अति निंदनीय बताया और कहा कि, “सिख समुदाय किसी से डरने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि सिखों को बीमारी का इलाज करना आता है। सिरसा ने कहा, ‘हम यहां बताने के लिए पहुंचे हैं कि हम किसी से डरने वाले नहीं हैं। हम अपनी जान देना जानते हैं और किसी की जान लेना भी जानते हैं। हम यह भी बताना चाहते हैं कि हमें अपनी तरफ आने वाले सांपों का सिर कुचलना आता है।“

बुरी फंसी कांग्रेस

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने ननकाना साहिब गुरुद्वारे में हुई पत्थरबाजी के दौरान एक युवक के भड़काऊ बयान को ट्वीट करते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, “क्या कोई इसे राहुल गांधी और सोनिया गांधी के लिए इतालवी में अनुवाद कर सकता है ताकि वह पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के उत्पीड़न के सबूत मांगना बंद कर दें।“

अब खुल जानी चाहिए CAA विरोधियों की आंखें

केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी ने भी इस मसले पर ट्वीट करते हुए कहा, “श्री ननकाना साहिब गुरुद्वारा में हुई शर्मनाक घटनाओं से उन सभी लोगों की आंखें खुल जानी चाहिए जो पाकिस्तान में धार्मिक अल्पसंख्यकों के उत्पीड़न से इनकार कर रहे हैं और CAA की जरूररत से मुंह मोड़ रहे हैं।“