पंजाब दौरे पर देश के प्रधानमंत्री की सुरक्षा में बड़ी चूक, प्रदर्शनकारियों ने ब्लॉक की सड़क

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बुधवार को फिरोजपुर में आयोजित रैली सुरक्षा कारणों से रद्द हुई है। यहां हुसैनीवाला के पास सुरक्षा व्यवस्था में बड़ी चूक सामने आई है। जब मोदी की फ्लीट बठिंडा एयरपोर्ट से हुसैनीवाला तरफ जा रही थी, तभी रास्ते में एक फ्लाई ओवर के पास अचानक वाहनों का काफिला आ गया, जिसे हटाने में करीब 15 मिनट का समय लग गया। यहां जानबूझकर रोड ब्लॉक कर दिया गया था। इस घटना को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बड़ी चूक माना है और पंजाब सरकार ने जवाब मांगा है। गृह मंत्रालय ने पूछा है कि वाहन और लोग अचानक रूट पर कैसे आ गए। कैसे रोड को ब्लॉक कर दिया गया? पंजाब पुलिस उस समय क्या रही थी?

तस्वीरों  के जरिए जानते है कैसे खड़ा रहा पीएम मोदी का फ्लीट ..

.प्रधानमंत्री मोदी आज सुबह बठिंडा पहुंचे थे। वहां से उन्हें हेलिकॉप्टर से हुसैनीवाला स्थित राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाना था।

 

 

Image

.बारिश और खराब विजिबिलिटी के चलते पीएम ने करीब 20 मिनट तक मौसम साफ होने का इंतजार किया। जब मौसम ठीक नहीं हुआ तो तो तय किया गया कि पीएम सड़क मार्ग से राष्ट्रीय  शहीद स्मारक का दौरा करेंगे।

Image

 

.सड़क मार्ग से जाने में 2 घंटे से अधिक समय लगना था। प्रधानमंत्री के सुरक्षा दस्ते ने इस संबंध में पंजाब डीजीपी से बात की।

 

.डीजीपी द्वारा आवश्यक सुरक्षा प्रबंधों की पुष्टि के बाद प्रधानमंत्री सड़क मार्ग से यात्रा करने के लिए आगे बढ़े।

 

.हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक से लगभग 30 किलोमीटर पहले, जब पीएम का काफिला एक फ्लाईओवर पर पहुंचा, तो वहां कुछ प्रदर्शनकारियों ने सड़क पर जाम लगा रखा था। इस दौरान प्रधानमंत्री करीब 15 से 20 मिनट तक फ्लाईओवर में फंसे रहे।

Image

देश के PM मोदी जी की सुरक्षा में इतनी बड़ी चूक कैसे हुई? जब पीएम बाई रोड से जाएंगे इसकी क्लियरेंस रही होगी पंजाब के डीजीपी या पुलिस की तरफ से, तो प्रदर्शनकारी कहां से आए, कौन थे, उन्हें हटाया क्यों नहीं गया? देश के PM 15 से 20 मिनट जाम में फंसे रहे, सोचिए क्या से क्या हो सकता था। ऐसे में पंजाब की सरकार को जवाब तो देना होगा कि आखिर इतनी बड़ी चूक कैसे हो गई। इतना ही नहीं इस पूरे मामले में मुख्यमंत्री खुद फोन पर नहीं आये जो काफी शर्मनाक भी है।