भूटान ने नहीं रोका था भारत के गांव का पानी, अब आई सफाई

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भूटान को लेकर खबरें थीं कि उसने भारत के गांव का पानी रोका है। यह गांव असम में पड़ता है। लेकिन अब भूटान ने सफाई जारी की है और ऐसी खबरों को गलत बताया। असम के चीफ सेक्रटरी संजय कृष्णा ने भी कहा कि भूटान के पानी रोकने जैसा कुछ नहीं है। भूटान ने तस्वीरें जारी कर बताया है कि जिस गंदगी की वजह से पानी रुका था उसे साफ कर दिया गया है।

​भूटान पर लगा था असम का पानी रोकने का आरोप

दरअसल, खबरें थीं कि भूटान ने असम के बक्सा जिले के किसानों का पानी रोक दिया है। वहां तो किसानों ने सड़क उतरकर विरोध तक करना शुरू कर दिया था।

​भूटान ने अपनी सफाई में क्या कहा

भूटान के पानी रोकने की खबरें आने के बाद उसने सफाई दी। भूटान के विदेश मंत्रालय ने सोशल मीडिया पर एक बयान जारी किया। लिखा था कि उन्होंने पानी नहीं रोका और ऐसी खबरें गलत हैं। बताया गया कि पानी में मिट्टी, कंकर की वजह से फ्लो रुका था, जिसे ठीक किया गया। इसके साथ तस्वीरें भी जारी की गईं।

सुनिए चीफ सेक्रटरी संजय कृष्णा ने क्या कहा

​दूर हो गई गलतफहमी

भूटान की तरफ से बयान आने के बीच ही असम के चीफ सेक्रटरी संजय कृष्णा का बयान भी आ गया। कहा गया कि पानी भूटान ने नहीं रोका था, वह मिट्टी, कंकर की वजह से रुक गया था। कृष्णा ने बताया कि भूटान को इस बारे में जैसे ही बताया गया उन्होंने इसे तुरंत साफ करवाया।

​सिंचाई के लिए इस्तेमाल होता है पानी

असम के बक्सा जिले में किसान 1953 के बाद से ही अपने धान के खेतों की सिंचाई भूटान से निकलने वाली नदियों के पानी से करते रहे हैं।

उठने लगे थे सवाल

भूटान से जुड़ी ऐसी खबरें आने के बाद भारत सरकार पर सवाल उठने लगे थे। कर्नाटक कांग्रेस ने मोदी की विदेश नीति पर निशाना साधा था। बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी तक ने सवाल उठाए थे।

Originally published: NBT Hindi News

 

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •