आर्टिकल 370 को खत्म हुए 24 घंटे नहीं हुए की पाकिस्तान में हाहाकार

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Outcry in Pakistan

आज यानी 5 अगस्त 2019 भारतीय राजनीती का एक और सुनहरा दिन | आज MODI 2.0 की सरकार ने कश्मीर को आर्टिकल 370 से मुक्ति दिला दी है | पर एक सबसे रोचक जानकारी हम आपको देने जा रहे है | कश्मीर से आर्टिकल 370 को हटे अभी 24 घंटे भी नहीं हुए की पाकिस्तान की परेशानियों ने पाकिस्तान में दस्तक देना शुरू कर दिया है | जी हाँ और इसी क्रम में सबसे पहली मुसीबत जो पाकिस्तान को झेलनी पड़ रही है वो है पाकिस्तान के शेयर बाज़ार में भारी गिरावट |

सुबह 11 बज कर 10 मिनट पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में जम्मू एवं कश्मीर राज्य पुनर्गठन विधेयक 2019 पेश किया | अभी इस विधेयक को लेकर शाह का भाषण ख़त्म भी नहीं हुआ था तभी पाकिस्तान के शेयर बाज़ार में भारी गिरावट दर्ज की गयी | सूत्रों के मुताबिक सोमवार को पाकिस्तानी शेयर बाजार का प्रमुख बेंचमार्क इंडेक्स केएसई-100 करीब 600 अंक लुढ़क कर 31 हजार 100 के स्तर पर आ गया | आकड़ों के हिसाब से पाकिस्तान के पिछले तीन कारोबारी दिनों के मुकाबले आज की गिरावट लगभग 1.75 फिसद ज्यादा है |

पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति से तो पूरी दुनिया अवगत है | सब जानते है की पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति सुधरने के बजाय दिन-प्रतिदिन बदत्तर होती जा रही है | और ऐसे समय पर पाकिस्तान किसी और देश से मदद की उम्मीद लगा रहा है | पाकिस्तान का सदाबहार दोस्त या ऐसा कह लो पाकिस्तान का सुपर हीरो चीन हमेशा ही भारी मात्र में पाकिस्तान में निवेश करता आया है | चीन ने पाकिस्तानी अर्थव्यवस्था को संभालने के लिए अरबों डॉलर का निवेश किया, साथ ही नकदी संकट से बचने के लिए इसी साल मार्च में चीन ने पाकिस्तान को दो अरब डॉलर का कर्ज दिया था | लेकिन अब पाकिस्तान का ये सुपर हीरो भी उसका हाथ छोड़ने की तैयारी कर रहा है | सूत्रों के मुताबिक वित्त वर्ष 2018-19 में पाकिस्तान में चीनी निवेश के आकड़ों में कमी आई है | एक साल पहले पाकिस्तान में चीन ने 1.8 अरब डॉलर का निवेश किया था वहीँ वित्त वर्ष 2018-19 में ये संख्या घटकर 49.6 करोड़ डॉलर रह गया है |

वहीँ दूसरी तरफ अमेरिका ने भी पाकिस्तान में निवेश की संख्या को घटा दिया है | एक साल पहले अमेरिका ने पाकिस्तान में 14.70 करोड़ डॉलर का निवेश किया था वहीँ वर्तमान वित्त वर्ष में यह निवेश घटकर 8.4 करोड़ डॉलर रह गया है | अब पाकिस्तान को बस इंतज़ार है किसी जादूगर का जो उसकी डूबती हुई आर्थिक स्थति के नाव को पार लगा सके |

पाकिस्तान के शेयर बाज़ार में भारत के वजह से गिरावट पहली बार नहीं दर्ज की गयी है | इसके पहले भी पुलवामा हमले के बाद जब भारतीय वायुसेना ने जवाबी करवाई में पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक किया था तब भी पाकिस्तानी शेयर बाज़ार में गिरावट दर्ज किया गया था |

सोमवार को जब राज्यसभा में शाह ने जम्मू एवं कश्मीर राज्य पुनर्गठन विधेयक 2019 पेश करते हुए कहा की कश्मीर और जम्मू डिवीजन विधान के साथ एक अलग केंद्र शासित प्रदेश होगा जहां दिल्ली और पुडुचेरी की तरह विधानसभा होगी तब एक बार फिर पाकिस्तानी शेयर बाज़ार धडाम हो गया है | सौ बात की एक बात ये है की अभी तो आर्टिकल 370 ख़त्म ही हुआ है और पाकिस्तान का हाल बेहाल हो गया है | आगे पाकिस्तान को और क्या-क्या झेलना होगा ये देखना आनंद का विषय होगा |

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •