ओमीक्रोन से सतर्क रहे लेकिन परेशान ना हो: पीएम मोदी

कोरोना के नये वैरिएंट ओमीक्रोन के लगी है। कहर को कम करने के लिए केंद्र सरकार लगातार कदम उठाने में खुद पीएम मोदी ओमीक्रोन को हराने के लिए मोर्चा संभाले हुए है और इसके लिये वो सबको साथ लेकर भी चल रहे है। देश के कई राज्यों के सीएम के साथ उनकी बैठक इसकी एक बानगी है।

राज्यों के सीएम के साथ बैठक

कोरोना स्थिति पर राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “पिछले वेरिएंट की तुलना में ओमिक्रॉन तेजी से फैल रहा है,ये अधिक ट्रांसमिसिबल है। हमारे स्वास्थ्य विशेषज्ञ स्थिति का आकलन कर रहे हैं। स्पष्ट है कि हमें सतर्क रहना है।” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “सौ साल की सबसे बड़ी महामारी से भारत की लड़ाई अब तीसरे साल में प्रवेश कर चुकी है। मेहनत हमारा एकमात्र पथ है और विजय एकमात्र विकल्प है। हम 130 करोड़ भारतीय अपने प्रयासों से कोरोना से जीतकर जरुर निकलेंगे।” इसके साथ पीएम मोदी ने राज्यों से बोला की वो इस तरह से योजना बनाये जिससे आर्थिक नुकसान कम से कम हो सके।

अधिकारियों के साथ की थी बैठक

कोरोना को लेकर सीएम की बैठक के पहले पीएम मोदी ने हेल्थ सेक्टर के अधिकारियों के साथ एक मंथन किया था जिसमें उन्हे ओमीक्रोन को लेकर जानकारी दी गई थी, जिसके बाद उन्होने टेस्टिंग और वैक्सीनेशन को और तेज करने की सलाह दी थी तो उन राज्यों में कड़े कदम उठाने की बात भी कही गई थी जहां कोरोना का कहर बढ़ रहा है। इसके साथ साथ केंद्र ने इस बैठक के बाद राज्य सरकारों से ऑक्सीजन प्लांट और वैटिलेंटर की स्थिति के बारे में भी जानकारी मांगी थी और भरोसा दिलाया था कि इस बार ऑक्सीजन की कमी देश में नहीं होगी तो वही लोगों को जागरूक करने की भी बात कही गई थी।

मोदी जी ने बैठक के बाद देश की जनता से भी बोला है कि वो सतर्क जरूर रहे लेकिन परेशान ना हो।  कोरोना के इस नये वैरिंएट से निपटने के लिये केंद्र और राज्य सरकार मिलकर काम करने में लगी हुई है तो वैक्सीनेशन में जिस तरह भारत आगे बढ़ रहा है वो भी बहुत अच्छा है। देश में पिछले एक साथ के भीतर करीब पहली डोज लेने वालो की संख्या 155 करोड़ हो गई है तो महज 10 दिन में शुरू हुए किशोरो की पहली डोज लेने वालो की संख्या 3 करोड़ से ज्यादा हो गई है जो एक शुभ संकेत है।

Leave a Reply