बांग्लादेश ने घर वापसी के लिए अवैध बांग्लादेशी घुसपैठियों की माँगी लिस्ट

Bangladesh wants lists of illegal Bangladeshi intruders

पूरे देश में जहां नागरिकता बिल को लेकर बवाल हो रहा है। वहीं दूसरी तरफ बाग्लादेशी घुसपैठियों के लिए एक राहत की खबर है।

भारत में रह रहे अवैध बांग्लादेशी वापस अपने देश जा सकते हैं। बांग्लादेश के विदेश मंत्री ए. के. अब्दुल मोमेन (Bangladesh Foreign Minister A K Abdul Momen) ने भारत से अनुरोध किया कि अगर उसके पास वहां अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशी नागरिकों की सूची है तो उसे मुहैया कराए और वह उन्हें लौटने की मंजूरी देगा।

बांग्लादेशी विदेश मंत्री ने उन रिपोर्ट्स को भी झुठलाया, जिनमें भारत की तरफ से जबरदस्ती लोगों को बांग्लादेश भेजने की बात कही गई। मोमेन ने कहा कि अगर बांग्लादेशियों के अलावा कोई और बांग्लादेश में घुसने की कोशिश करेगा, तो हम उन्हें वापस भेज देंगे। मोमेन ने कहा कि बांग्लादेश ने भारत सरकार से अनुरोध किया है कि ‘‘अगर’’ उसके पास भारत में अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशियों की कोई सूची है तो उन्हें मुहैया कराए। उन्होंने कहा, ‘हम बांग्लादेशी नागरिकों को वापस आने की अनुमति देंगे क्योंकि उनके पास अपने देश में प्रवेश करने का अधिकार है।’

मोमेन ने कहा कि बांग्लादेश-भारत के संबंध सामान्य और ‘‘काफी अच्छे’’ हैं और इन पर कोई असर नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा कि भारत ने एनआरसी प्रक्रिया को अपना आंतरिक मामला बताया है और ढाका को आश्वस्त किया कि इससे बांग्लादेश पर असर नहीं पड़ेगा।

बता दें कि मोमेन ने अपनी यात्रा रद्द करने से पहले गृह मंत्री अमित शाह के उस बयान को ‘‘गलत’’ बताया था कि बांग्लादेश में धार्मिक अल्पसंख्यकों का उत्पीड़न किया गया। वहीं, नयी दिल्ली में विदेश मंत्रालय ने कहा था कि मोमेन ने अपनी यात्रा रद्द करने के बारे में भारत को बता दिया है और कहा कि शाह ने सैन्य शासन के दौरान बांग्लादेश में धार्मिक उत्पीड़न का हवाला दिया था, न कि मौजूदा सरकार के शासन में।

बता दें कि 30 अगस्त को NRC की अंतिम लिस्ट प्रकाशित हुई थी। इसके लिए 3.3 करोड़ आवेदकों ने आवेदन किया था। जिसमें से 19 लाख से अधिक लोगों को बाहर रखा गया।