ऑटो सेक्टर को लगे ‘पंख’, अक्टूबर में बढ़ी वाहनों की बिक्री

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

vehicle sales increase in October

अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर अच्छी खबरें मिल रही हैं। त्योहारों का सीजन ऑटो सेक्टर के लिए काफी लकी रहा। वित्त वर्ष 2019-20 में पिछले 11 महीनों में पहली बार ऑटो सेक्टर में पैसेंजर व्हीकल्स की बिक्री में बढ़ोतरी हुई है। अक्टूबर में 285,027 लाख पैसेंजर व्हीकल्स यूनिट्स की बिक्री हुई। सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स यानी सियाम की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल के मुकाबले यह बढ़ोतरी 0.28 फीसदी ज्यादा है। जबकि अक्टूबर, 2018 में 284,223 यूनिट्स की बिक्री हुई थी।

SUV की बिक्री 22.2 फीसदी बढ़ी

वहीं यूटिलिटी सेगमेंट में बिक्री में शानदार बढ़ोतरी हुई है। आंकड़ों के मुताबिक अक्टूबर 2019 में इस सेगमेंट में 100,275 यूनिट्स की बिक्री हुई, जो 22.22 फीसदी ज्यादा थी। वहीं वैन कारों की बिक्री में 35.08 फीसदी की गिरावट आई है।

मारुति सुजुकी की बिक्री में 25.11 प्रतिशत की बढ़ोतरी

Maruti-Car-Showroom

मारुति सुजुकी की बिक्री में पिछले साल अक्टूबर के मुकाबले 4.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की है, पिछले माह यानी सितंबर की तुलना में अक्टूबर में मारुति ने 25.11 प्रतिशत बिक्री में बढ़त दर्ज हुई है। मारुति ने बताया कि उसने अक्टूबर 2019 में 1,53,435 वाहनों की बिक्री की। साल 2018 में इसी दौरान 1,46,766 यूनिट की बिक्री हुई थी। वहीं सितंबर 2019 में कंपनी ने 1,22,640 वाहन बेचे थे।

दोपहिया वाहनों की बिक्री घटी

सियाम के उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक अक्टूबर माह में दुपहिया वाहनों की बिक्री भी 14.43 प्रतिशत घटकर 17,57,264 इकाई रही जो कि एक साल पहले इसी माह में 20,53,497 इकाई रही थी। वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री भी इस दौरान 23.31 प्रतिशत घटकर 66,773 इकाई रह गई।

आगे भी ग्रोथ रहेगी जारी

सियाम के अध्यक्ष राजन वढोरा का कहना है कि पिछले साल के मुकाबले इस त्योहारी सीजन में मांग, नए मॉडल्स का लॉन्च होना और मारुति सुजुकी की ग्रोथ ने ऑटो सेक्टर को आगे बढऩे में मदद की है। साथ ही, उन्होंने कहा फाइनेंस की बेहतर सुविधा मिलने से भी गाडयि़ों की बिक्री बढ़ी है। नवंबर और दिसंबर में ग्राहकों का रुख सकारात्मक होने के चलते बिक्री बेहतर रहने की उम्मीद है।

गौरतलब है कि मोदी सरकार में अर्थव्यवस्था तेज रफ्तार से बढ़ रही है, उसका एक संकेत ये भी है कि मोदी सरकार की नीतियों के कारण आज भारत का विदेशी का मुद्रा भंडार नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है। भारतीय रिजर्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक, देश का विदेशी मुद्रा भंडार एक नवंबर को समाप्त सप्ताह में 3.52 अरब डॉलर बढ़कर 446.09 अरब डॉलर के नए सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया। इससे पिछले सप्ताहांत में देश का विदेशीमुद्रा भंडार 1.83 अरब डॉलर बढ़कर 442.58 अरब डॉलर हो गया था।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •