अतिथि देवो भव: भारत के स्वागत के मुरीद हुए ट्रंप

दुनिया के सबसे ताकतवर देश के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप के स्वागत के लिए अहमदाबाद को किसी दुल्हन की तरह सजाया गया था और पूरे शहर में दिवाली, होली ईद जैसा जश्न साफ तौर पर दिख रहा था। जगह-जगह ट्रंप के स्वागत वाले पोस्टर्स और होर्डिंग्स ये बता रहे थे कि दोनो देश इस शहर से कोई नया इतिहास लिखने वाले है। चलिये आप से शेयर करते है इतिहास बनने वाले इन क्षणो की कुछ तस्वीर :

जब पीएम मोदी ने ट्रंप को दी झप्पी

ट्रंप की अगवानी के लिये खुद पीएम हवाई अड्ड़े में मौजूद थे, जब दुनिया की दो बड़ी शक्तिशाली हस्ती आपस में मिली तो मोदी ने सबसे पहले ट्रंप को अपनी तरफ से एक झप्पी थी। पीएम मोदी की झप्पी पाकर अमेरिकी ट्रंप भी गदगद दिखे।

ट्रंप और उनकी पत्नी ने चलाया साबरती आश्रम में चरखा

मोटेरा स्टेडियम जाने से पहले डॉनल्ड ट्रंप साबरमती आश्रम भी पहुंचे। साबरमती नदी के किनारे स्थित इस आश्रम में महात्मा गांधी ने स्वतंत्रता संग्राम के दौरान 1917 से 1930 तक निवास किया था। ट्रंप ने साबरमती आश्रम में पहुंचकर जानकारी ली और पत्नी मेलानिया के साथ चरखा भी चलाया। इस दौरान पीएम मोदी भी उनके साथ मौजूद रहे जो उन्हें चरखे का महत्व समझा रहे थे। इतना ही नही पीएम मोदी ने गांधी जी के तीन बंदरो वाला एक प्रतीक चिन्ह भी ट्रंप को तोहफे में दिया।

ट्रंप को ‘नमस्ते’ कहने मोटेरा स्टेडियम में लोग का हुजूम पहुंचा

‘नमस्ते ट्रंप’ शो को अगर इस साल का सबसे सफल सो कहा जाये तो गलत नही हआ क्योकि इस शो में दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम मोटारा में लाखों लोग पहुंचे। सभी स्टेडियम के अंदर जाने और भव्य कार्यक्रम का गवाह बनने के लिए बेताब थे। यहां लोगों के हाथ में ट्रंप और मोदी के पोस्टर थे तो हाथ में दोनों देशों के झंडे। कुछ ने तो अपने शरीर में दोनों देशों के झंडों को पेंट करा रखा था। इस दौरान लोगों ने सेल्फी भी क्लिक कराई।

नये युग की हुई शुरूआत -मोदी

मोटेरा स्टेडियम में डॉनल्ड ट्रंप का भव्य स्वागत हुआ। मोटेरा स्टेडियम में सवा लाख लोग मौजूद रहे। यहां कार्यक्रम से पहले दोनों देश के राष्ट्रगान की धुन बजाई गई। सबसे पहले पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत की जिसमें उन्होंने कहा कि ट्रंप की यह यात्रा, भारत और अमेरिका के संबंधों का नया अध्याय है। पीएम मोदी ने अपने और ट्रंप के लिए कहा कि एक लैंड ऑफ द फ्री है तो दूसरा पूरे विश्व को एक परिवार मानता है। एक को स्टैचू ऑफ लिबर्टी पर गर्व है तो दूसरे को, दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा-सरदार पटेल की स्टैचू ऑफ यूनिटी का गौरव है।

ट्रंप ने पीएम मोदी के कामों के कसीदे पढ़े

दूसरी तरफ एक बार फिर ट्रंप ने देश के पीएम मोदी को मध्य एशिया का सबसे मजबूत नेता बताया और बोला कि मोदी के शासनकाल में भारत तेजी के साथ विकास कर रहा है। उन्होने मोदी सरकार के द्वारा गांव गांव बिजली पहुंचाने की बात हो बहुत बड़ा कदम बताया। इतना ही नही उन्होने मोदी के नेत्तृव में भारत विश्व की सबसे बेहतर अर्थव्यवस्था बनेगा इसका भी ऐलान किया। साथ ही मजाकिया लेहजे में उन्होने कहा कि पीएम मोदी के साथ डील करना काफी कठिन होता है।

बरहाल दो दिन के दौरे में आये ट्रंप की यात्रा का आगाज हो गया है और जैसा कि विश्व में जगजाहिर है कि भारत अपने मेहमान को भगवान से कम नही समझता है और उसकी खातिरदारी भगवान की तरह ही करता है। जिसका एक उदाहरण अहमदाबाद में दिख रहा था और ऐसा दिखता भी रहेगा…..