अटल जी का अब तक का सफर ….

  • 843
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हिंदुस्तान की राजनीति के भीष्म पितामह कहे जाने वालेअटल बिहारी वाजपेयी चिरनिद्रा में लीन है सबसे बेहतरीन वक्ताओं में से एक अटल जी जिन्हे शब्दों का जादूगर कहा जाता था. लेकिन ये जादूगर अब मौन है. कलम रुक गई है, कविताएं खामोश हो गई हैं. और देश ग़म मे डूबाहुआ हैं। चलिये अब अटल जी के सफर के बारें जानते हैं।

1924 – को ग्वालिय के एक सधारण परिवार में अटल जी का जन्म हुआ था।

1942 – गांधी जी से प्रभावित हो कर भारत छोड़ो आंदोलन मे हुए गिरफ्तार ।

1951 –  भारतीय जनसंघ से जुड़े

1957 – पहली बार लोकसभा पहुंचे

1962 – पहली बार राज्यसभा के संसद बने

1968 – पहली बार जनसंघ के अध्यक्ष की कमान सभाली

1975 – आपातकाल के दौरान जेल गये

1977 – जनता पार्टी की सरकार मे विदेश मंत्री बने

1980 – भारतीय जनता पार्टी को बनाया और अध्यक्ष बने

1996 – पहली बार 13 दिन के प्रधानमंत्री बने

1998 – 13 महीने के प्रधानमंत्री बने पोखरण मे परमाणु विस्फोट करके देश को शक्तिशाली बनाया

1999- दिल्ली लाहौर बस सेवा शुरू करके पकिस्तान से रिश्ते सुधारने के लिये लाहौर गये

2001 सर्व शिक्षा अभियान की शुरूआत करके देश को आगे ले गये।

2005 देश की सियासत से लिया संन्यास

2015- भारत रत्न से नवाजे गये

2018 16 अगस्त शाम 5.05 मिनट मे अंतिम सांस ली

लेकिन ये सफर ख़त्म नही हुआ है क्योंकि उन्होने खुद कहा था कि

मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूं

लौटकर आऊंगा, कूच से क्यों डरूं?

 


  • 843
  •  
  •  
  •  
  •  
  •