बालाकोट एयरस्ट्राइक से मरे होंगे 300 आतंकी: विंग कमांडर अभिनन्दन के पिता

Abhinandan_father

पूर्व एयर मार्शल सिम्हाकुट्टी वर्धमान ने बुधवार को कहा है कि, भारत के एयरस्ट्राइक में बालाकोट के आतंकवादी कैंप पर गिराए गए लेजर गाइडेड स्पाइस- 2000 बमों से 250-300 आतंवादी मारे गए होंगे। मालूम हो कि, सिम्हाकुट्टी वर्धमान उन्हीं विंग कमांडर अभिनंदन के पिता हैं जो पाकिस्तान के युद्धक विमान एफ-16 को मार गिराने के बाद पाकिस्तानी सीमा में जा पहुंचे और दो दिनों तक पाकिस्तान की गिरफ्त में रह थे|

उस वक़्त ज्यादातर आतंकी कैंप में थे!

पूर्व एयर मार्शल सिम्हाकुट्टी वर्धमान, आईआईटी-मद्रास में डिफेंस स्टडीज के स्टूडेंट्स से बालाकोट में जैश-ए-मुहम्मद के ट्रेनिंग कैंप पर हुए एयरस्ट्राइक को लेकर बातचीत में ये बातें कह रहे थे| उन्होंने इसी दौरान कहा कि, ‘भारतीय वायु सेना ने तब धाबा बोला जब ज्यादातर आतंकवादी कैंप के अंदर थे। संभव है कि बिल्डिंग को कम नुकसान पहुंचा हो, लेकिन बम के देर से फटने के कारण ज्यादा-से-ज्यादा आतंकवादी मारे गए होंगे।’

भ्रम में पड़ गया पाकिस्तान

उन्होंने इसी दौरान आगे कहा, ‘पाकिस्तानी विमान एफ-16 और उसकी एमराम मिसाइलें वास्तव में हमारे लिए खतरा हैं। हमें बालाकोट की तरफ बढ़ते वक्त एफ-16 को भटकाना था और सुनिश्चित करना था कि पाकिस्तानी विमान दूसरी दिशा में चले जाएं। इसलिए, हमने उन्हें खूब भ्रमित किया।’ उन्होंने कहा, ‘दरअसल, हमने सात विमानों को बहावलपुर की दिशा में भेजा, जो जैश-ए-मुहम्मद का मुख्यालय है। पाकिस्तान को लगा कि हम बहावलपुर पर हमला करने जा रहे हैं और उसने हमारे युद्धक विमानों को रोकने के लिए अपने एफ-16 विमान भेज दिए। ठीक उसी वक्त, हमने बालाकोट में हमले के लिए अपने विमान भेज दिए। कुल मिलाकर, पाकिस्तानी एयर फोर्स पूरी तरह धोखा खा गई।’

अलर्ट होकर भी धोखा खा गया पाकिस्तान

पूर्व एयर मार्शल वर्धमान ने कहा कि, पाकिस्तान चौकस था और उसे इस बात का पूरी तरह से आभास था की भारत हमला जरूर करेगा| उन्होंने कहा, ‘हालांकि, उसे यह बिल्कुल आभास नहीं था कि हम उसकी सीमा में घुस जाएंगे।’ बहरहाल, उन्होंने इसके साथ यह भी कहा की एयर स्ट्राइक को लेकर यह उनका आंकलन है| यह मुमकिन है कि ये बात सही न हो| गौरतलब है कि आंकड़े को लेकर जब से एयर स्ट्राइक हुई है, तब से ही उहापोह की स्थिति बनी हुई है| जहाँ एक तरफ सत्ताधारी दल के नेता अलग-अलग आंकड़े देते है| जबकि दुसरे तरफ विपक्षी दल के नेता इन आंकड़े को लेकर साक्ष्य रखने की बात कहते है| इसी बीच विंग कमांडर अभिनन्दन के पिता का ऐसा बयान आना काफी मायनो में अहमियत रखता है|