POK वापस लेने के लिए सेना तैयार, सरकार के आदेश का इन्तजार – सेना प्रमुख विपिन रावत

Army ready to take POK - Bipin Rawat

पाकिस्तान से आ रही युद्ध और परमाणु हमले की गीदड़भभकियों और भारत सरकार द्वारा POK को लेकर अपने साफ़ रुख के मद्देनज़र सेना प्रमुख विपिन रावत ने आज कहा कि, “भारतीय सेना किसी भी परिस्थिति का सामना कर के POK को पाकिस्तान से वापस छीनने को तैयार खड़ी है| इसका फैसला सरकार को करना है, सरकार जैसा आदेश करेगी सेना वैसी कारर्वाई के लिए तैयार है|”

मीडिया के सवाल के जवाब में सेना प्रमुख ने दिया बयान

पीएमओ में राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह के पीओके पर दिये बयान पर सेना की तैयारी के बारे में मीडिया द्वारा पूछे गए प्रश्न के जवाब में सेना प्रमुख विपिन रावत ने ये बयान दिया| सेना प्रमुख रावत के शब्दों में, “उन्होंने कहा, “अन्य संस्थाएं तो जैसा सरकार कहेगी, वैसी तैयारियां करेंगी।’ सेना तो हमेशा किसी भी कार्रवाई के लिए तैयार ही रहती है।“

सेना प्रमुख ने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के फैसले का स्वागत किया। उन्होंने कहा, “कश्मीर के नागरिक भी भारत के ही नागरिक हैं| उन्होंने 30 साल तक आतंकवाद का दंश झेला है, अब उन्हें शांति की दरकार है| वहां (POK में) शांति बहाल करने के लिए सुरक्षा बलों को कुछ मौका देना चाहिए।

भारत का रुख स्पष्ट – POK भारत का अभिन्न अंग है

जम्मू एवं कश्मीर से आर्टिकल 370 ख़त्म होने के पहले से ही पाक अधिकृत कश्मीर को लेकर भारत ने अपना रुख स्पष्ट रखा है| प्रधानमन्त्री मोदी लाल किले के प्राचीर से पाक अधिकृत कश्मीर में वहां के निवासियों के साथ हो रहे अत्याचार और उनकी पीड़ा का जिक्र भी किया था|

आर्टिकल 370 पर संसद में हो रही बहस की कार्यवाही के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी साफ़ साफ़ कहा था कि, POK के लिए जान भी देना पड़े तो दे देंगे|

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी POK को लेकर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को चेतावनी दे चुके हैं। उन्होंने कहा था कि, “पाकिस्तान से अब कोई भी बातचीत पीओके को लेकर ही होगी।“

कश्मीर के मुद्दे पर बौखलाए पाकिस्तान के लिए सेना प्रमुख का बयान स्पष्ट संदेश है कि पाकिस्तान को ऐसी धमकियों से बाज आना चाहिए, अन्यथा पाकिस्तान को ईट का जवाब पत्थर से झेलने को तैयार रहना होगा|