आंतक के खातमे के इरादे से निकली सेना मास्टरमाइंड रशीद गाजी सहित एक आतंकी को मार गिराया

भारत माता पर बुरी नजर डालने वालो की अब खैर नही और इसकी शुरूआत भी सेना ने कर दी है। जिसके चलते जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में एनकाउंटर में जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकवादी ढेर कर दिये गये है।

पुलवामा हमले के बाद देश के पीएम नरेद्र मोदी ने सेना को आतंक के खात्मे के लिये खुली छूट दे दी है। जिसके बाद भारतीय सेना कश्मीर मे छुपे आतंकियो की रेकी करके उन्हे ठिकाने लगाने मे जुट गई है। इसी क्रम मे जम्मू-कश्मीर में पुलवामा में रात 12 बजे से चल रहे एनकाउंटर में जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकवादी मारे गए हैं। खबरों के मुताबिक इस मुठभेड़ में पुलवामा में सीआरपीएफ  काफिले पर आत्मघाती हमले का मास्टरमाइंड रशीद गाजी के भी मारा गया है। पुलवामा हमले के चार दिन बाद ही सुरक्षाबलों ने गाजी को ढेर कर दिया है। मुठभेड़ में एक औऱ आतंकवादी भी ढेर किया गया है। मुठभेड़ स्थल से एक एके 47 और एक पिस्टल भी मिली है। इसे एक बड़ी सफलता के रूप मे देखा जा रहा है।

मारा गया आतंकी रशीद गाजी

पाकिस्तानी नागरिक गाजी रशीद और एक अन्य आतंकी पुलवामा हमले के बाद भागने में कामयाब रहे थे जबकि एक आतंकी मोहम्मद आदिल डार आत्मघाती हमले में मारा गया था। एजेंसियों से मिली सूचना के मुताबिक गाजी जैश के सरगना मौलाना मसूद अजहर के सबसे विश्वसनीय करीबियों में से एक है। गाजी को युद्ध तकनीक और IED बनाने का प्रशिक्षण तालिबान से मिला है और इस काम के लिए उसे जैश का सबसे भरोसेमंद माना जाता है। गाजी रशीद ही पुलवामा का मुख्य साजिशकर्ता था। अब सुरक्षाबलों ने चार दिन बाद ही पुलवामा आत्मघाती हमले का मास्टरमाइंड गाजी को ढेर कर दिया है।

बताया रहा है कि गाजी रशीद 9 दिसंबर को ही सीमा पार कर कश्मीर में घुस आया था। पुलवामा हमले के बाद सुरक्षा बलों ने उसे पकड़ने के लिए व्यापक तलाशी अभियान शुरू किया था। एनकाउंटर के दौरान सुरक्षाबलों ने उस इमारत को बम से उड़ा दिया जिसमें आतंकी छिपे थे। पुलवामा के पिंगलिना में खबर मिलने पर सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों को घेर लिया था।  लेकिन अफसोस की बात ये है कि इस आपरेशन मे हमारे 4 जवान भी शहीद हो गये है। जिन पर देश को नाज है।

लेकिन सेना ने गाजी को मार कर एक बड़ी सफलता हासिल की है. या ये मान लिया जाये कि एक तरह से जैश की कमर ही तोड़ दी है। लेकिन ये दिल मागे मोर अभी सेना के जवान कुछ इसी अदा मे कश्मीर मे छुपे इन आंतकियो को खोज खोज के मारने के लिये निकल पड़े है। ये तो अबी घर के भीतर की सफाई है। इसके बाद वो लोग भी सावधान हो जाये जो आतंकियों को पैदा कर रहे है या पनह दे रहे है क्योकि अब भारत की सेना और सरकार दोनो ही उन्हे छोड़ने वाली नही।