विश्व साइकिल दिवस के अवसर पर राम मेघवाल ने साइकिल से दफ्तर जा किया लोगों को प्रेरित

आज विश्व साइकिल दिवस के अवसर पर बीकानेर संसदीय क्षेत्र से तीसरी बार सांसद और राज्यमंत्री बने राम मेघवाल ने साइकिल से दफ्तर तक का सफ़र तय कर साइकिल के इस्तेमाल को बढ़ावा देने की अपील की| उन्होंने अपने ट्वीटर के माध्यम से ट्वीट कर लोगो को स्वस्थ और पर्यावरण की रक्षा हेतु रोज़मर्रा की जिंदगी में साइकिल इस्तेमाल करने की सलाह दी|

एक आईएस अधिकारी से राजनेता बने मेघवाल जिन्हें मोदी सरकार में दूसरी बार भी मंत्री बनाया गया है, वाहन के बजाये साइकिल का उपयोग करना ज्यादा पसंद करते है| उन्हें 2016 में मंत्री बनने के बाद सुरक्षा चिंताओं के कारण सामान्य रूप से काम करने के लिए साइकिल चलाने से रोक दिया गया था।

 2019 के लोकसभा चुनाव में 65 वर्षीया मेघवाल ने बीकानेर से हेट्रिक बनायी| उन्होंने अपने ही चचेरे भाई कांग्रेस के उम्मीदवार मदन गोपाल मेघवाल को 2.64 लाख से अधिक से हराया। 2009 में भारतीय प्रशासनिक सेवा से इस्तीफा दे राजनीति में शामिल हुए मेघवाल लोकसभा चुनाव में बीकानेर से चुने गए थे|

2013 में, उन्हें सर्वश्रेष्ठ सांसद पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। फिर साल 2014 में बीकानेर संसदीय क्षेत्र से मेघवाल फिर निर्वाचित हुए| इस बार उनकी ये तीसरी जीत है|

उल्लेखनीय है कि रॉबर्ट वाड्रा के कथित अवैध भूमि सौदे को प्रकाश में लाने वाले मेघवाल ही थे| मेघवाल अपनी सदगी के लिए भी खासे जाने जाते हैं,मेघवाल की गिनती उन गिने-चुने सांसदों में हैं, जो साइकिल से संसद जाते हैं।

30 मई को, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और उनके मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण समारोह में वो भी साइकिल से राष्ट्रपति भवन पहुंचे थे| अतीत में, उन्होंने जल संसाधन, नदी विकास और गंगा कायाकल्प और संसदीय मामलों के मंत्रालय में केंद्रीय राज्य मंत्री के रूप में कार्य किया था|

पुलवामा हमले के बाद मेघवाल ने घोषणा की थी कि भारत, पाकिस्तान में बहने वाली तीन पूर्वी नदियों के पानी को रोक देगा और पानी को पंजाब या राजस्थान द्वारा पीने और सिंचाई के लिए उपयोग किया जायेगा।

राम मेघवाल को उनकी सादगी और देश के लिए समर्पण के लिए जाना जाता है|