अपने तो अपने होते हैं

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कहते है न, कि बुरे वक्त में ही अपनो की पहचान होती है, कोरोना संकट में अपनो की पहचान भी खूब हो रही है। कुछ लोग सिर्फ झूठ बोलकर नकरात्मकता फैलाकर माहौल खराब कर रहे हैं तो दूसरी तरफ  अपनो की मदद जिस तरह से मोदी सरकार कर रही है, उससे तो यही लगता है कि सच में अपने तो अपने होते हैं। तभी तो देश में दूसरे राज्य में रह रहे कामगारों और मजदूरों को मोदी सरकार फ्री में घर पहुंचा रही है, तो अब विदेश में फंसे भारतीयों को भी देश लाने के लिये अभियान शुरू करने वाली है।

विदेश में फंसे लोगों को भारत लायेगी मोदी सरकार

पीएम मोदी हर भारतीयों का ख्याल रखते है इस बात को उन्होने फिर साबित किया है। कोरोना संकट के वक्त पीएम मोदी के दिल में सिर्फ भारत में रहने वालों की चिंता तो है ही साथ ही भारत से बाहर रहने वालों की फ्रिक भी है। तभी तो विदेश में फंसे भारतीयों को लाने के लिए मोदी सरकार 7 से 13 मई तक एक विशेष अभियान चलाने जा रही है। जिसमे करीब 64 देशों में फंसे 14800 भारतीयों को भारत लाया जायेगा। वैसे ये पहली बार नही है जब मोदी सरकार विदेश में फंसे लोगों को बचाने के लिये कोई अभियान चला रही है। इससे पहले सीरिया, इराक और अफगानिस्तान से भी भारतीयों को मुश्किल वक्त में भारत लाया गया है। हां यहां ये बताना भी जरूरी है कि जो लोग भारत लाये जायेंगे वो खुद अपना किराया देंगे ये हम इस लिये बता रहे हैं कि कोई फिर झूठ बोल कर इस मुश्किल वक्त में देश में सरकार के खिलाफ भ्रम न फैला सके।

देश में भी मजदूरों की करवाई घर वापसी

जो लोग ये झूट फैला रहे थे कि मोदी सरकार सिर्फ विदेश से ही लोगों को लाने का प्लान बना रहे हैं वो ये भी जान लें कि मुश्किल के इस वक्त पर हमारे प्रधान सियासत न करके लोगों की सेवा में लगे हैं तभी तो रेलवे के जरिये अभी तक 70 हजार से अधिक लोगों को घर पहुंचाया जा चुका है। इसके लिये सरकार करीब 62 ट्रेन पटरी पर दौड़ा रही है तो दूसरी तरफ 13 और नई रेल चलाने जा रही है। इससे सरकार की संवेदशीलता का पता चलता है और हां इन में जो सफर कर रहे हैं उनका 15 फीसदी किराया राज्यों से लिया जा रहा है जबकि 85 फीसदी किराया खुद रेलवे भुगतान कर रही है।

अब तो आप समझ ही गये होंगे कि कैसे बिना सियासत किये मोदी सरकार इस संकट की घड़ी में बिना अपना पराया किये जान से जहान तक बचाने में जुटी हुई है। लेकिन कुछ लोग झूठ फैलाकर देश में महौल खराब करना चाहते हैं। जिसको लेकर हमे सावधान होना होगा और अपने पराये की पहचान भी करनी होगी। जिससे ये पता चल सके कि देश हित के लिये कौन 24*7 काम कर रहा है। और कौन सिर्फ सियासत ।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •