संयुक्त राष्ट्र में भारत की एक और कामयाबी, INCB सदस्य की लड़ाई में चीन को हराया

jagjit-pavadia

भारत के जगजीत पवाडिया को संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी अंतरराष्ट्री य नारकोटिक्सर कंट्रोल बोर्ड International Narcotics Control Board (INCB) के लिए दोबारा सदस्य चुना गया है। पवाडिया वर्ष 2015 से आइएनसीबी की सदस्ये हैं। उनका मौजूदा कार्यकाल 2020 तक था। इस चुनाव में उन्हें5 44 मत मिले। इस तरह उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी चीन के हाओ वेई को हराकर रिकॉर्ड वोटों से जीत हासिल की।

संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी आर्थिक और सामाजिक परिषद ने मंगलवार को गुप्त मतदान के जरिए पावडिया को चुना। इस चुनाव में परिषद के कुल 54 सदस्यों में सभी उपस्थित थे। मतदान में सभी सदस्यों ने भाग लिया। पहले राउंड की वोटिंग में जगजीत पवाड़िया के पक्ष में 44 वोट पड़े। हालांकि इस चुनाव में जीतने के लिए सिर्फ 28 वोटों की जरूरत होती है। दूसरे नंबर पर मोरक्कोद के जलल तौफीक को 32 वोट मिले। जगजीत पवाड़िया को पांच साल के लिए चुनाव गया है। जगजीत पावडिया का कार्यकाल अब 2 मार्च 2020 से शुरू होगा और वो साल 2025 को समाप्त होगा। चीन ने अपने उम्मीदवार को जिताने के लिए विकासशील देशों के साथ लॉबिंग भी करने की कोशिश की, लेकिन फिर भी हाओ वेई को हार का सामना करना पड़ा और उनको पहले राउंड में कुल 22 वोट ही प्राप्त हुए।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत सैय्यद अकबरुद्दीन ने चुनाव परिणाम की घोषणा के बाद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। जगजीत पवाड़िया ने आईएनसीबी में दोबारा से चुने जाने पर खुशी जाहिर की है। साथ ही निष्पक्ष रूप से अपनी सेवाएं देने का वादा किया है।

वर्ष 1954 में जन्मी पावडिया ने 1988 में दिल्ली विश्वमविद्याल से विधि स्नाकतक किया हैं। इसके बाद इंडियन इंस्टीसट्यूट से पब्लिक एडमिनिस्ट्रेकशन में मास्टिर डिप्लोयगा किया। 2015 से अंतरराष्ट्रीय नारकोटिक्स् कंट्रोल बोर्ड के सदस्य बनीं। पा‍वडिया ने भारत सरकार के 35 वषों के लिए भारतीय राजस्व् सेवा में कई वरिष्ठ पदों पर काम किया और जिम्मेदारियां सभालीं।

आपको बता दें की इसके अतिरिक्त भारत ने फूड एंड एग्रीकल्चर ऑर्गेनाइजेशन के डायरेक्ट जनरल पद के लिए भी प्रत्याशी मैदान में उतारा है। नीति आयोग के सदस्य रमेश चंद्र को भारत का उम्मीदवार बनाया गया है जिसके लिए चुनाव अगले महीने रोम में फूड एंड एग्रीकल्चर ऑर्गेनाइजेशन कॉन्फ्रेंस के दौरान होगा।

फूड एंड एग्रीकल्चर ऑर्गेनाइजेशन के डायरेक्ट जनरल पद के लिए रमेश चंद्र के खिलाफ कुल चार उम्मीदवार मैदान में हैं। अगर रमेश चंद्र को इस चुनाव में जीत मिलती है, तो वो फूड एंड एग्रीकल्चर ऑर्गेनाइजेशन के डायरेक्टर जनरल जोस ग्रैजियानो डा सिल्वा का स्थान लेंगे।