अमित शाह का बड़ा कदम – डॉक्टर्स को घर खाली कराने वाले माकन मालिकों पर होगी कार्यवाही

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

एम्स मे काम रहे डॉक्टरों व नर्सों के आग्रह पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ठोस कदम उठाते हुए ऐसे मकान मालिकों पर कड़ी कार्रवाई का इंतजाम किया है | इस से पहले एम्स मे काम रहे कई डॉक्टरों व नर्सों ने यह गृह मंत्रालय से यह शिकायत की थी कि उनके मकान मालिक उन्हें घर खाली करने को बोल रहे थे |

कोरोना मरीजों के इलाज में लगे डॉक्टरों-नर्सों को घर खाली करने के लिए कहने वाले मकान मालिकों पर अब दिल्ली पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्ली के पुलिस आयुक्त से बात की है और उन्हें वैसे मकान मालिकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को कहा है जो कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज में लगे डॉक्टरों, नर्सों को घर खाली करने के लिए बोल रहे हैं। इससे पहले ऐसी खबरें आईं थीं कुछ मकान मालिक कोरोना वायरस के मरीजों का इलाज करने वाले डॉक्टरों और नर्सों को घर से बाहर निकाल रहे हैं।

वहीं, रेसिडेंट डॉक्टर्स असोसिएशन के जनरस सेक्रेटरी डॉ. एस राजकुमार टी ने बताया कि गृह मंत्री अमित शाह ने AIIMS के रेसिडेंट डॉक्टर्स असोसिएशन को फोन किया और आश्वासन दिया कि इस तरह के किसी भी मामले को गंभीरता से लिया जाएगा और तुरंत कार्रवाई की जाएगी।

दरअसल, एम्स के रेसिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन ने गृहमंत्री अमित शाह को चिट्ठी लिखी थी और हेल्थ केयर सेवा में लगे डॉक्टरों, नर्सों को घर से निकालने की बात कहने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की थी। साथ ही उनके लिए ट्रांसपोर्ट फैसिलिटी की भी मांग की थी। 

बता दें कि देश में कोरोना के मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है और यह आंकड़ा बढ़कर 519 हो गया है पर ये आंकड़े यह भी कहते हैं की पहले की तुलना मे अब कहीं कम मरीज़ आ रहे हैं | स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा मंगलवार शाम में जारी आंकड़ों के मुताबिक, भारत में कोरोना के पॉजिटिव केसों की संख्या 519 हो गई है, जिनमें से 39 को डिस्चार्ज कर दिया गया है और नौ लोगों की मौत हो चुकी है। 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि इन आंकड़ों में कम से कम 43 विदेशी नागरिक शामिल हैं और अब तक नौ मौत हो चुकी है। पश्चिम बंगाल और हिमाचल प्रदेश में सोमवार को एक-एक मौत हुई जबकि पूर्व में हुई सात मौत महाराष्ट्र (दो), बिहार, कर्नाटक, दिल्ली, गुजरात और पंजाब में एक एक मौत हुई थी। पिछले कुछ दिनों में संक्रमण के मामले अचानक बढ़ने के बाद अधिकारियों ने लगभग पूरे देश में लॉकडाउन (बंद) लागू कर दिया है जिसके तहत लोगों के एकत्र होने पर प्रतिबंध हैं और सड़क, रेल एवं हवाई यातायात पर 31 मार्च तक रोक लगा दी गई है।

 

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •