मोदी है तो मुमकिन है, अमरीकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो

यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल के इंडिया आइडियाज समिट में अपने भाषण के दौरान अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा, “मोदी है तो मुमकिन है”| इंडिया आइडियाज समिट में पॉम्पियो ने मोदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि 1971 के बाद से भारत के किसी भी प्रधानमंत्री ने पूर्ण बहुमत के साथ वापसी नहीं की थी, लेकिन मोदी ने ये कर दिखाया| अपने भाषण में पोम्पिओ ने भारत और अमेरिका के बीच भविष्य में बेहतर रिश्तों की संभावनाओं पर बल दिया|

पॉम्पियो इस महीने भारत के दौरे पर आने वाले हैं और अपनी यात्रा के दौरान वो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा अपने समकक्ष भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात करेंगे| मुलाकात के दौरान कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की सम्भावना है| इसके बाद पोम्पियो इस महीने के आखिर में कोरिया में परमाणु निरस्त्रीकरण पर चर्चा करने के लिए जापान और दक्षिण कोरिया का दौरा करेंगे|

वर्तमान परिप्रेक्ष्य में भारत और अमेरिका के बीच रिश्तों की गर्माहट में थोड़ी कमी आई है| ट्रम्प द्वारा भारत को GSP तरजीह की लिस्ट से बाहर करना तथा रूस के साथ S-400 के क़रार पर अमेरिका की तल्खी, इत्यादि कारणों से भारत और अमेरिका के बीच संबंधों में थोड़ी दूरी होने की सम्भावना नजर आ रही थी| लेकिन अमेरिका और भारत दोनों देशों के लिए आपस में मधुर संबंध रखना समस्त विश्व की प्रगति, शांति, और स्थिरता के लिए आवश्यक है|

ऐसे में अमेरिकी विदेश मंत्री का भारतीय प्रधानमंत्री के लिए एक खुले वैश्विक मंच पर ऐसा बयान अमेरिका के लिए भारत के साथ मधुर संबंधों की जरुरत की तरफ इशारा करता है| सही कहा पोम्पियो ने, “MODI MAKES IT POSSIBLE – मोदी है, तो मुमकिन हैं”|