अमेरिका ने दिया नमो को लीजन ऑफ मेरिट अवार्ड

पीएम मोदी किसी भी रोल में रहे हो लेकिन उन्होने हमेशा ही भारत माता का सम्मान विश्व में बढ़ाया है खासकर पिछले 6 साल से जिस तरह से पीएम मोदी दुनिया में एक विश्व नेता  के तौर पर उभरे है उसे के चलते दुनिया के बड़े बड़े देश और संगठन उनको अपने देश के खिताबों से नवाज रहे है इसी क्रम में अब एमेरिका ने पीएम मोदी को लीजन ऑफ मेरिट अवार्ड से नवाजा है।

अमेरिका का प्रतिष्ठित अवार्ड है लीजन ऑफ मेरिट

लीजन ऑफ मेरिट अवॉर्ड अमेरिका का प्रतिष्ठित सम्मान है। इस सम्मान को उत्कृष्ट सेवाओं और उपलब्धियों के प्रदर्शन में असाधारण रूप से किए गए काम के लिए दिया जाता है। इस अवार्ड को दूसरे देशों के प्रमुखों के साथ अमेरिकी सेना के अधिकारियों को भी सम्मानित किया जाता है। ट्रंप ने यह अवार्ड पीएम मोदी के कार्यकाल में अमेरिका के साथ मजबूत हुए द्विपक्षीय संबंधों के आधार पर दिया है। पीएम मोदी के अलावा ट्रंप ने यह सम्मान ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री सकॉट मॉरिशन और जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे को दिया है। इन दोनों देशों के साथ भी अमेरिका के संबंध काफी मजबूत हैं। चीन की काट खोज रहा अमेरिका भारत, जापान और ऑस्ट्रेलिया के साथ मिलकर क्वाड का भी गठन कर चुका है।

अमेरिकी एनएसए ने ट्वीट की तस्वीर

अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओब्रायन ने इस सम्मान को भारतीय राजदूत तरणजीत सिंह संधू को दिया। उन्होंने इस मौके की तस्वीर ट्वीट कर लिखा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लीजन ऑफ मेरिट से सम्मानित किया है, उन्होंने जिस तरह भारत को ग्लोबल स्टेज पर पहुंचाया है और भारत-अमेरिका के रिश्तों को मजबूत किया है उसके लिए ये सम्मान दिया गया है। वैसे विश्व के देशों के साथ मोदी नीति का ही कमाल है कि आज विश्व के हर देश मोदी जी के साथ मिलकर काम करना चाहते है तो कई देस मोदी नीति को अपना भी रहे है फिर वो दुश्मन देश ही क्यो न हो स्वच्छ भारत योजना को चीन अपने देश में अपना रहा है तो पाकिस्तान भी आत्मिर्भर योजना की बात करते रहते है। ऐसे और भी देश है जो मोदी की बनाई योजना को अपने देश में नकल कर रहे है।

पीएम मोदी को मिलने वाला ये सब सम्मान एक तरह से भारत की जनता का बी सम्मान है और इसीलिये तो हर भारतीय आज पीएम मोदी पर गर्व करता है क्योकि वो अपने साथ सात देशवासियों का सिर भी विदेश में ऊंचा कर रहे है।