लोकसभा में आज़म खान के बिगड़े बोल पर खफा हुई सभी महिला संसद, कहा या तो सस्पेंड करो नहीं तो कड़ी सजा दो

विवादित बयान

बीते बुधवार यानि 25 जुलाई 2019 को लोकसभा में सभी सांसदों के समक्ष संशोधित किया हुआ तीन तलाक का बिल रखा गया जो लोक सभा सदन से विपक्ष के बहुत से विवादित प्रश्न और खेद के बावजूद पारित हो गया| पर इस बिल के पारित होने के चर्चों से ज्यादा उत्तर प्रदेश के रामपुर से समाजवादी पार्टी के संसद आजम खान, लोकसभा की महिला सभापति और बीजेपी सांसद रमा देवी पर किये गए अपनी आपत्तिजनक टिपण्णी से चर्चा में है और उससे भी ज्यादा इस समय वो पुरे देश की जनता खास कर महिलाओं के बीच निंदा का सबसे बड़ा विषय बन गए है|

आजम खान के इस विवादित टिप्पणी से सबसे ज्यादा देश की महिला वर्ग खफा है और इस समय देश की सभी महिला सांसद एक जुट होकर आज़म के खिलाफ खड़ी है | हर महिला सांसद की यही मांग है की या तो आज़म खान अपने इस तुच्छ हरकत के लिए बिना शर्त माफ़ी मांगे और नहीं तो संसद में उनपर शख्त करवाई की जाये और सस्पेंड किया जाये या फिर उन्हें कड़ी से कड़ी सजा सुनाई जाये ताकि दोबारा कोई भी संसद इस तरह की विवादित टिप्पणी कर संसद की मर्यादा की अवहेलना न करे |

बीते शुक्रवार को लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के अध्यक्षता में आज़म खान के विवादित टिप्पणी पर करवाई के प्रक्रिया को लेकर सांसदों की बैठक हुई जहाँ सांसद रमा देवी, दानिश अली, सुप्रिया सुले, अधीर रंजन चौधरी समेत अन्य पार्टी के नेता भी शामिल रहे | इसके साथ ही टीडीपी के सांसद जयदीप गल्ला और डीएमके सांसद कनिमोझी भी इस बैठक में शामिल हुए | अचम्भे की बात ये रही की संसद में ऐसा पहली बार हुआ जब सभी महिला सांसद अपने-अपने पार्टियों को दरकिनार करते हुए एक जुट होकर आज़म खान के खिलाफ खाड़ी थी | कई महिला सांसदों ने लिखित में शिकायत करते हुए आजम खान को सस्पेंड करने की मांग की है | कई महिला सांसदों ने आज़म खान के मानसिकता पर सवाल भी उठाये |

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज कहती है मानसिक विकृति से ग्रस्त हैं आज़म खान

 

सुषमा स्वराज ने बीते शुक्रवार को ट्विट के ज़रिये कहा की आज़म खान कई बार ऐसे विवादित टिप्पणियां करते रहे | उनकी सोच उनकी विकृत मानसिकता को दर्शाती है | महिला सभापति पर दिया गया उनका बयान बदसलूकी की सारी हदों को तोड़ चुका है | अब संसदीय जिम्मेदारी यही है की जल्द से उनके खिलाफ कोई शख्त करवाई की जाये |

रमा देवी ने भी की कार्रवाई की मांग

Rama Devi

आज़म खान के आपत्तिजनक बयान का शिकार बनी महिला सभापति बीजेपी सांसद रमा देवी ने भी आज़म के खिलाफ करवाई की मांग की है और कहा है की सोमवार को सदन में बिना किसी शर्त के आज़म खान माफ़ी मांगे और अगर वो ऐसा नहीं करते है तो उन्हेंत 5 साल के लिए निलंबित किया जाए | वहीँ लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला इस मसले में आज़म खान को नोटिस भेजने की तैयारी कर रहे है |

पूर्व स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा आज़म को पहले बोलने की ट्रेनिंग लेनी चाहिए

सुमित्रा महाजन कहती है की सदन के कुछ नियम होते है जिनका पालन करना होता है | आप जब भी सदन में बोले तो अपने कुर्सी की मर्यादा को ध्यान में रखकर बोले | लेकिन आज़म खान के इस तरह के टिपण्णी से ये साफ़ ज़ाहिर हो रहा है की आज़म को पहले क्या बोलना है और कैसे बोलना है इस बात की ट्रेनिंग लेने की ज़रुरत है |

खैर ये तो महिला सांसदों की मांग है | परन्तु  हम सभी भी ये सोच कर अपने सांसद को चुनते है कि वो हमारे हित की सोचें | एक संसद जब लोकसभा में बोलता है तो पूरा देश उसे सुनता है | सांसद को हमेशा इस बात का ध्यान रखना चाहिए की वो क्या बोल रहा है और किसे बोल रहा है क्योंकि उसका हर एक बोल पुरे देश को प्रभावित करता है |