वायुसेना ने दिया जवाब: दुश्मन का खात्मा करना उनका काम

जो लोग एयर स्ट्राइक को लेकर मन मे शक पाले हुए थे उन्हे एयर फोर्स की तरफ से सही जवाब मिल गया है. अब आशा यही की जा रही है कि कोई इस कार्यवाही पर कोई उंगली नही उठायेगा।

वायुसेना का करारा जवाब

बालाकोट में जैश के ठिकानों पर भारत की वायुसेना द्वारा किये हमले पर हो रही सियासत के बीच वायुसेना ने  साफ कर दिया है कि बम सटीक निशाने पर गिराए गए थे। वायुसेना प्रमुख बी. एस. धनोआ ने साफ किया कि एयर फोर्स ने सफलतापूर्वक टारगेट को हिट किया। यही नही उन्होने देश को साफ बताया कि उनका काम दुश्मन को खत्म करना है न की दुश्मन की लाशे गिनना है  इस जवाब के बाद ये बात तो सही साबित हो गई है कि हा सेना का काम अपने देश की सीमा की रक्षा करना और दुश्मनो का सफाया करना है और इसपर कोई शक नही कर सकता कि भारत की सेना ये काम बखूबी करती आई है. इतिहास के झरोखे मे झांक कर देखा जाये तो इस बात के पुख्ता सबूत भी मिलते है।

 

कुछ सवाल दुश्मन मुल्क को करते तो है फायदा

ऐसे मे सेना पर शक करने वाले कही न कही दुश्मन देश की ही मदद करते हुए दिखाई दे रहे है और ये पहली बार नही इससे पहले सर्जिकल स्ट्राइक पर भी इन लोगो ने शक करके सबूत मांगे थे उस वक्त तो चुनाव का महौल भी नही था लेकिन इसके बाद भी सिर्फ कुछ लोग अपनी सियासत चमकाने या ये कहे कि नमो सरकार के खिलाफ सिर्फ विरोध करने के चक्कर मे हर अच्छे हुए काम का  भी विरोध करते आ रहे है, जो देश के लिए घातक साबित हो सकता है और इसे बंद करना चाहिये क्योकि इससे सेना का मनोबल कम होता है। लेकिन ये मौसम चुनाव का भी है ऐसे मे चुनावी फायदे के लिए सरकार को बदनाम करने के लिए कुछ लोग कुछ भी करने को तैयार है। फिर वो देश से विरोध मे अवाज ही क्यों न उठानी हो।

जनता को ये सब समझ कर ही इस बार चुनाव मे जवाब देना चाहिये कि कौन देश हित मे खड़ा है और कौन देश के विरोध मे. अगर देश के भीतर के इन दुश्मनों को जवाब देश की आवाम नही देगी तो ये आने वाले दिनो मे इससे बड़े बड़े सवाल पूछेगे जो देश के हित मे नही होगे।