संसद से पास हुआ कृषि बिल वापसी बिल, पीएम मोदी बोले हर विषय पर चर्चा के लिये तैयार

संसद का शीतकालीन सत्र की शुरूआत हो चुकी है। पहले दिन ही मोदी सरकार ने लोकसभा और राज्य सभा से कृषि बिल की वापसी का बिल पास भी करवा लिया है। सत्र के शुरूआत में पीएम मोदी ने बोला की केंद्र सरकार हर विषय पर खुली चर्चा करने के लिए और हर सवाल का जवाब देने के लिए तैयार है।

लोकसभा और राज्य सभा से कृषि बिल वापसी बिल हुआ पास

जैसा की पीएम मोदी ने किसानों से वादा किया था कि कृषि बिल को वापस लिया जायेगा। आज उसपर लोकसभा और राज्य सभा दोनो जगह से मोहर लग गई है। दोनो सदनो से बिल को ध्वनि मत से पास कर दिया है। हालांकि इस बिल पर विपक्ष ने इस बार भी हंगामा मचाया लेकिन हंगामे के बीच सरकार ने बिल को पास करवा लिया। अब ये बिल राष्ट्रपति के पास जायेगा जिसके बाद ये पूरी तरह से समाप्त हो जायेगा।

हम हर मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार – मोदी

संसद का शीतकालीन सत्र शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार हर विषय पर खुली चर्चा करने के लिए और हर सवाल का जवाब देने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि वे चाहेंगे कि संसद में सवाल भी हो और शांति भी हो। देश का हर सामान्य नागरिक चाहेगा कि संसद का यह सत्र और आने वाला सत्र आजादी के दीवानों की जो भावनाएं थी, उसके अनुरूप संसद भी देशहित में चर्चाएं करे और देश की प्रगति के लिए नए उपाय खोजे। पीएम मोदी ने कहा, “यह संसद सत्र विचारों की समृद्धि और दूरगामी प्रभाव पैदा करने वाला बने। आजादी के अमृत महोत्सव में हम ये भी चाहेंगे कि संसद में सवाल भी हो, संसद में शांति भी हो। सरकार की नीतियों के खिलाफ जितनी आवाज प्रखर होनी चाहिए हो, लेकिन संसद की गरिमा, अध्यक्ष की गरिमा के विषय में हम वो आचरण करें जो आने वाले दिनों में देश की युवा पीढ़ी के काम आए। संसद की कार्यवाही को रोकना कोई मानदंड नहीं होगा।

कोविड के नए वेरिएंट से हमें सतर्क रहने की जरूरत- पीएम

पीएम कहा कि पिछले सत्र के बाद कोरोना की विकट परिस्थिति में भी देश ने कोरोना वैक्सीन की 100 करोड़ से अधिक डोज का आंकड़ा पार कर लिया है और 150 करोड़ डोज की ओर बढ़ रहा है। उन्होंने कहा, “नए वेरिएंट की खबरें भी हमें और सतर्क करती है। इसलिए मैं संसद के सभी साथियों को भी सतर्क रहने के लिए प्रार्थना करता हूं। क्योंकि आपका उत्तम स्वास्थ्य ऐसी संकट की घड़ी में हमारी प्राथमिकता है।”

विपक्ष पर पीएम मोदी की इस विनम्र अपील का भी असर नहीं हुआ और पहले दिन ही इन लोगों ने जमकर हंगामा किया जिससे विपक्ष की मानसिकता का पता चलता है। फिलहाल अब सत्र के बचे दिन विपक्ष का रोल देखना होगा कि वो देश के विकास के लिये काम करती है या फिर हंगामा करके रुकावट डालती है।