आर्टिकल 370 ख़त्म होने के साथ ही घाटी के विकास के मोदी का मास्टर प्लान

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Modi government prepared a master plan

कश्मीर से आर्टिकल 370 ख़त्म हो चूका है और अब मोदी सरकार का ध्यान सिर्फ एक ही जगह केन्द्रित है कि किस प्रकार से घाटी के विकास को नयी रफ़्तार दी जाये| इसके लिए MODI 2.0 ne अपनी कोशिश की शुरुआत भी कर दी है| सूत्रों के मुताबिक नए आजाद और सशक्त कश्मीर की पूरी रूपरेखा तैयार कर ली गयी है और बहुत जल्द कश्मीर के लिए तैयार की गयी योजनाओं पर काम शुरू कर दिया जायेगा|

हमारे माननीय PM मोदी का सपना है कश्मीर घाटी को आतंक और दहशत जैसे शब्दों से आजाद करवाना, इसके लिए उन्होंने कश्मीर के विकास का पूरा मास्टरप्लान तैयार कर लिया है| घाटी के युवाओं को रोजगार देना, बच्चों को उचित और सही शिक्षा देना, घाटी की महिलाओं को सशक्त करना ये सब सरकार की प्राथमिकता है जिन्हें पूरा करने के लिए सरकार ने अपनी कवायद भी शुरू कर दी है|

सूत्रों के मुताबिक राज्य में आर्थिक विकास के लिए सरकार इसी साल अक्टूबर के महीने में निवेशकर्ताओं के लिए समिट का आयोजन करेगी जिसका लक्ष्य होगा कि किसी भी तरह कश्मीर में 50,0000 करोड़ का निवेश किया जाये| नए राज्य में बड़े पैमाने पर निवेश होगा तो राज्य के विकास निर्माण कार्य को मजबूती मिलेगी| इसके अलावा सरकार बहुत जल्द श्रीनगर में मेट्रो की सुविधा शुरू करने जा रही है जिसके निर्माण कार्य में कुल 1300 लोगो को नियुक्त किया जायेगा जिनमे एन्जिनीर्स, डिज़ाइनर और IT विशेषज्ञों को शामिल किया जायेगा | सरकार के मुताबिक घाटी के मेट्रो प्रोजेक्ट में कुल 5000 करोड़ का निवेश किया जायेगा |

इसके साथ ही कश्मीर में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए राज्य में IIT और IIM का भी निर्माण किया जायेगा | यही नहीं ख़बरों के अनुसार कुछ कंपनियों ने भी तय किया है कि वो कश्मीर के विकास के लिए निवेश को तैयार हैं| इसी क्रम में खबर आई की बीते गुरुवार को मोदी के आह्वान से प्रेरित होकर पंजाब का उद्योग समूह ट्राईडेंट ग्रुप जम्मू-कश्मीर में एक हजार करोड़ रूपये का निवेश करेगा| इस बात की जानकारी खुद अमेरिका में रह रहे कंपनी के चेयरमैन राजिंदर गुप्ता ने दी है|

राजिंदर का कहना है कि वो कश्मीर में निवेश अपनी कंपनी को बढ़ाने के लिए नहीं और ना ही पैसे बनाने के मकसद से कर रहे है बल्कि वो घाटी के प्रगति कार्य और विकास में योगदान के लिए ऐसा कर रहे हैं| इस के साथ ही वो चाहते है कि घाटी की महिलाओं को सशक्त किया जाये, उन्हें उनके पैरों पर खड़ा किया जाये| बता दें की ट्राईडेंट ग्रुप कागज, कॉटन, धागा, कपड़े से लेकर विद्युत उत्पादन भी करता है|

PM मोदी का मानना है की कश्मीर की समस्या का समाधान सिर्फ उसके आर्थिक स्थति को सुधार कर ही होगी| गौरतलब है कि इसीलिए भी मोदी देश के अन्य कंपनियों को प्रेरित कर रहे हैं ताकि वो कश्मीर में निवेश करें जिससे कश्मीर का विकास कार्य तेज रफ़्तार के साथ शुरू हो सके|


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •