रामलला के अभिषेक के लिए अफगानिस्तान की बेटी ने भेजा काबुल नदी का जल 

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के शिलान्यास के वक्त पीएम मोदी ने बोला था कि राम सबके है और आज इस बात की सत्यता भी देखी जा रही है। जब भागवान राम के भव्य राम मदिर निर्माण के लिए समूचा विश्व खड़ा हो गया है सभी देश राम मंदिर में कुछ ना कुछ सहयोग करना ही चाहते है। इसी क्रम में अफगानिस्तान से एक बच्ची ने पीएम मोदी को राम मंदिर निर्माण के लिए काबुल नदी का जल भेजा है जिससे प्रभु राम का अभिषेक हो सके। इतना ही नही विश्व के 115 देशों से ऐसे ही जल भगवान राम के जलाभिषेक के लिये अयोध्या पहुंच चुके है।

 

अफगान से एक बच्ची ने राम मंदिर के लिए पीएम मोदी को भेजा काबुल नदी का जल

अफगानिस्तान जहां तालिबान का शासन चल रहा है, तालिबान जो दूसरे धर्म का सम्मान बिलकुल नही करता है। उसके बाद भी उसी देश से अयोध्या में भगवान राम के मंदिर के निर्माण के लिये एक बच्ची द्वारा मंदिर निर्माण के लिये काबुल नदी का जल भेजना ये बताता है कि भगवान राम की महिमा को मानने वालो के दिल में भय तो होती ही नही है तभी तो वो बिना खौफ राम मंदिर के लिये काबुल नदी का जल पीएम मोदी को भेजती है जो भारत के पवित्र देवस्थलों के लिए जल भेजना भारत के प्रति उनके प्रेम को दर्शाता है।

CM Yogi Dedicated Water Of Kabul River For Construction Of Ram Temple -  सीएम योगी ने राम मंदिर निर्माण में गंगा जल व काबुल नदी का जल किया समर्पित |  Patrika News

 

115 देशों की नदी से आया हुआ है जल

इसी तरह दुनिया के 115 देशों से अयोध्या जल पहुंच चुका है जिससे मंदिर निर्माण के बाद जलाभिषेक किया जायेगा जो वसुधैव कुटुंबकम के संदेश को झलकाता है। भारतीय संस्कृति बहुत समृद्ध है और भारत में जाति, वर्ण और धर्म के आधार पर कोई भेदभाव नहीं होता ये भी इस तरह के आयोजन से साफ होता है। वैसे इतिहास में भी बताया गया है कि जब भगवान राम का राजभिषेक हुआ था तब समूचे विश्व से इसी तरह से जल लाया गया था जिसके बाद उनका राजतिलक का कार्यक्रम किया गया थ। इसी लिये इस बार भी राममंदिर निर्माण के बाद भगवान राम का जलाभिषेक करने की तैयारी की जा रही है जो समूचे विश्व को एकता के धागे में पिरोने में काम करेगा।

इतना ही नहीं इसी तरह ही श्रीलंका से अशोकवाटिका से शिला आई है जो मंदिर में प्रयोग की जायेगी। जो ये बताता है कि प्रभु राम सही में सबके है और सभी प्रभु राम के है।