370 हटने के बाद जम्मू कश्मीर में दिखा बड़ा असर, सुरक्षाबलों की शहादत में 73% की कमी

आर्टिकल 370 और 35ए को हटाये जाने को 6 महीने पूरे हो चुके हैं। इस दौरान जम्मू कश्मीर में बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है। गृह मंत्रालय के ताज़ा आंकड़ों के मुताबिक जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को होने वाले नुकसान में भारी कमी देखने को मिली है। राज्यसभा में पूछे गये एक सवाल के जवाब में गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी ने बताया कि 5 अगस्त के बाद से पिछले 173 दिनों में सुरक्षाबलों के वीरगति पाने के आंकड़ों में 73 प्रतिशत तक की कमी आई है।

गृह राज्यमंत्री के मुताबिक 13 फरवरी 2019 से 4 अगस्त 2019 के बीच 82 जवान शहीद हुए थे। जबकि 5 अगस्त 2019 से 24 जनवरी 2020 के बीच कुल 22 जवानों ने वीरगति प्राप्त की है। जाहिर है आर्टिकल 370 को हटाये जाने का असर जम्मू कश्मीर में और आतंकवाद को काबू करने में स्पष्ट दिखाई दे रहा है।

जम्मू एवं कश्मीर से पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 (Article 370) हटने के बाद 32 आतंकवादियों को मार गिराया गया है और 10 आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया है। गृह राज्य मंत्री जी. किशन रेड्डी ने बुधवार को राज्यसभा में इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस दौरान जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवादी घटनाओं में 19 नागरिक मारे गए हैं।

अर्थव्यवस्था भी हो रही मजबूत

इससे पहले मंगलवार को गृहराज्य मंत्री जी. किशन रेड्डी ने संसद को सूचित किया था कि अनुच्छेद 370 के हटने और जम्मू एवं कश्मीर के केंद्रशासित प्रदेश बनने के बाद कश्मीर घाटी में कृषि कार्य काफी सुचारु तरीके से हो रहा है। अनुच्छेद 370 हटाने के फैसले के बाद आर्थिक प्रभाव के बारे मे पूछे गए सवाल के जवाब में, किशन रेड्डी ने लोकसभा को सूचित किया था कि वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए जनवरी तक 18.34 लाख मीट्रिक टन सेबों को बाहर भेजा जा चुका है।

जम्मू एवं कश्मीर सरकार से प्राप्त सूचना का हवाला देते हुए, किशन रेड्डी ने यह भी कहा कि ‘वर्ष 2019 में रेशमकीट उत्पादन के मामले में 813 मीट्रिक टन रेशम के कोकून का उत्पादन हुआ।’ उन्होंने कहा, “वित्तीय वर्ष 2019-20 के पहले तीन-चौथाई हिस्से में 688.26 करोड़ रुपये के हस्तशिल्पों को निर्यात किया गया। इसके अलावा कई पर्यटन अभियानों को भी लांच किया गया।”

अंतरराष्ट्रीय समुदाय को दी गई कश्मीर और CAA पर जानकारी

वहीं दूसरी ओर, सरकार ने लोकसभा में कहा कि CAA और जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बारे में अंरराष्ट्रीय समुदाय को जानकारी दी गई है। एक प्रश्न के लिखित उत्तर में सदन में विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने कहा कि सरकार की ओर से संपर्क का नतीजा है कि कई देशों ने पाकिस्तान से कहा कि वह अपनी सरजमीं का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए नहीं होने दे।

उन्होंने कहा कि CAA एक सकारात्मक कदम है और भारत के इस रुख की सराहना हुई है। इससे भारत के किसी नागरिक या मतावलंबी की नागरिकता पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।