गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर राष्ट्रपति कोविंद और PM मोदी ने दी गुरुपर्व की बधाई

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Guru_Nanak_Dev_ji | PC - Twitter

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को गुरु नानक जयंती की शुभकामनाएं दी।

सिखों के पहले गुरु और सिख पंथ के संस्थापक गुरु नानक देव जी की 550वीं जयंती प्रकाश पर्व के रूप में आज श्रद्धा और उल्लास के साथ मनायी जा रही है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पंजाब के कपूरथला जिले में सुलतानपुर लोधी में आयोजित कार्यक्रमों में भाग लेंगे। गुरु नानक देव जी को यहीं दिव्य ज्ञान की प्राप्ति हुई थी और उन्होंने यहां 15 वर्ष से अधिक प्रवास किया था।

राष्ट्रपति कोविंद ने ट्विटर पर कहा, गुरु नानक देव जी की 550वीं पावन जयंती के अवसर पर, सभी देशवासियों, विशेषकर हमारे सिख समुदाय के भाइयों और बहनों को हार्दिक शुभकामनाएं। आइए, हम गुरु नानक देव जी के आदर्शों और शिक्षाओं को अपने जीवन में ढालकर, करुणा, समता और परस्पर सौहार्द पर आधारित समाज बनाने का संकल्प लें।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करके कहा, आज श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर मैं सभी को शुभकामनाएं देता हूं। यह श्री गुरु नानक देव जी के न्यायपूर्ण, समावेशी और सौहार्दपूर्ण समाज के सपने को पूरा करने के लिए खुद को फिर से समर्पित करने का दिन है। पीएम मोदी ने पंजाबी भाषा (गुरमुखी) में भी शुभकामनाएं दी हैं। इसके साथ ही पीएम मोदी ने एक वीडियो भी शेयर किया है।

इससे पहले 9 नवंबर को प्रधानमंत्री मोदी ने करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन किया था और श्रद्धालुओं के जत्थे को पंजाब के गुरदासपुर जिला स्थित ऐतिहासिक नगर डेरा बाबा नानक से पाकिस्तान में मौजूद तीर्थ स्थल गुरुद्वारा दरबार साहिब के लिए रवाना किया।

Kartarpur: 550 Years Of Guru Nanak DevJi | PC - Twitter

राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री समेत देश के कई नेताओं ने देशवासियों को इस पर्व की शुभकामनाएं दी हैं।

उप-राष्ट्रपति वैंकैया नायडू ने अपने संदेश में कहा कि गुरुनानक देवजी ने भारत के उदात्त आध्यात्मिक मूल्यों के प्रतीक थे और उन्होंने धर्मों के बीच एकता से आम लोगों को आपसी भाईचारे का संदेश दिया। उप-राष्ट्रपति ने कहा कि गुरुनानक देवजी का दिव्य संदेश हमेशा लोगों को सत्य और करुणा के पथ पर अग्रसर करेगा।

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि गुरु नानक देव जी भारत की समृद्ध संत परम्परा के अनूठे प्रतीक थे और उनकी शिक्षाएं, मानवता की सेवा की प्रेरणा देती हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी द्वारा गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में एतिहासिक करतापुर कॉरि़डोर देशवासियों को समर्पित करना गुरुनानक देवजी के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि है।

बता दे कि गुरु नानक देव जी का जन्मोत्सव को प्रकाश पर्व के रूप में मनाया जाता है। गुरु नानक जी का जन्म पंजाब के तलवंडी में 1526 में कार्तिक महीने में पूर्णिमा के दिन हुआ था। तलवंडी को अब ननकाना साहिब नाम से जाना जाता है। इस दिन को गुरु नानक जयंती के नाम से भी जाना जाता है। गुरु नानक देव जी एक दार्शनिक, समाज सुधारक, चिंतक और कवि थे। आज के दिन श्रद्धालु विभिन्न स्थानों पर लंगर आयोजित करते हैं।

प्रकाश पर्व समारोह भारत के अलावा अन्य देशों में भी आयोजित किए जाते हैं। दुबई में भारतीय उच्चायोग की सजावट की गई है। उधर, नेपाल में भी कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •