घाटी में युवाओं के आतंकी बनने की दर में 40 फ़ीसदी और नक्सली हिंसा में 43 फीसदी की कमी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Union Minister G Kishan Reddy

मोदी सरकार बनने के बाद विधि व्यवस्था में ग़ज़ब का परिवर्तन दिखा है| देश के ज्यादातर संवेदनशील हिस्सों में शांति का माहौल कायम हुआ है, साथ ही कानून व्यवस्था को चोट पहुँचाने वाले तत्वों की संख्या में गिरावट आई है|

राज्यसभा में एक प्रश्न के उत्तर में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री, जी किशन रेड्डी ने जो आंकड़े साझा किये उसके अनुसार देश में शांति का माहौल कायम हुआ है और आतंकी तथा नक्सली मामलों में काफी कमी आई है| गृह राज्य मंत्री द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार –

• जम्मू-कश्‍मीर में युवाओं के आतंकी समूहों में शामिल होने के मामलों में 40 फीसद की गिरावट आई है
• सुरक्षाबलों की सजगता के कारण सीमा पार से होने वाली आतंकी घुसपैठ में भी 43 फीसद की कमी आई है
• साथ ही सुरक्षा बलों के ऑपरेशन में 59 फीसद का इजाफा हुआ है, और आतंकी घटनाओं में भी 28 फीसद की कमी देखी गई है
• आतंकियों को निष्क्रि ‍य करने के मामले में भी 22 फीसद का इजाफा हुआ है

इसके अलावा देश के भीतर हो रही नक्सलियों के विरुद्ध कारर्वाई में भी तेजी आने की वजह से काफी सकारात्मक बदलाव देखने को मिले हैं, आंकड़ों के अनुसार –

• 2009-2013 की तुलना में वर्ष 2014-18 के दौरान देश में नक्सली हिंसा में 43 फीसदी की कमी आई है
• वर्ष 2018 में नक्सली हिंसा से प्रभावित जिलों की संख्या घट कर केवल 60 रह गई, 2010 में ऐसे जिलों की संख्या 95 थी
• नक्सली हिंसा की घटनाएं वर्ष 2009 मे 2258 थीं जो 2018 में घट कर 833 रह गईं
• वर्ष 2010 में नक्सली हिंसा में 1005 लोगों की जान गई थी जबकि 2018 में यह आंकड़ा घट कर 240 रह गया

इन आंकड़ों से साफ़ जाहिर होता है कि सरकार पूरी निष्ठा से अपना कार्य कर रही है| सरकार की तरफ से मिली हुई खुली छुट के चलते सेना और सुरक्षाबलों के बढ़े हुए मनोबल और आत्मविश्वास का असर उनकी कारर्वाई और संबंधित बदलावों में साफ़ साफ़ झलक रहा है| उम्मीद है MODI 2.0 सरकार अपने दुसरे कार्यकाल को पूरा करने से पहले देश की शांति व्यवस्था में अभूतपूर्व बदलाव लाने में सफल होगी|

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •