भारत में कोरोना से जंग: इन 3 आंकड़ों ने बढ़ाई सरकार की उम्मीद

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

 

कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण के बीच केंद्र सरकार ने देश में लॉकडाउन (Lockdown) के तीसरे चरण की घोषणा कर उसे 17 मई तक बढ़ा दिया है. लॉकडाउन के तीसरे चरण में जोन के हिसाब से कुछ छूट भी दी गई हैं. ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि आखिर सरकार ने ये छूट देने का फैसला किस आधार पर किया है. बता दें कि देशभर से कोरोना को लेकर जो आंकड़े स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) और केंद्र सरकार के पास आ रहे हैं वह राहत के संकेत दे रहे हैं.

 

इसमें रिकवरी रेट (Recovery Rate) और मृत्यु दर (Death Rate) का आंकड़ा भी शामिल है. इसके साथ ही भारत में कोरोना से संक्रमित मरीजों के ठीक होने का समय भी अन्य देशों से काफी बेहतर है. अब तक कोरोना से संक्रमित 12,727 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं.

 

रिकवरी रेट तेजी बढ़ रहे हैं 

बता दें कि कोरोना वायरस की वजह से पिछले 41 दिनों से देश में लॉकडाउन है और अभी इसे 17 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है. कोरोना वायरस की जांच ज्यादा होने के बाद से संक्रमित मरीजों का पता भी आसानी से लगाया जा रहा है. इन सबके बीच सरकार के लिए सबसे राहत की खबर रिकवरी रेट को लेकर है. देश में अब तक कोरोना से संक्रमित 12,727 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं. यह रिकवरी रेट 27 प्रतिशत के करीब है. स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक मई के अंत तक रिकवरी रेट 50 प्रतिशत तक पहुंचने की उम्मीद है.

 

10 लाख टेस्ट के बाद भारत की स्थिति अन्य देशों से बेहतर

भारत में रविवार तक कोविड-19 के 10 लाख से अधिक टेस्‍ट किए जा चुके हैं. भारत के अलावा जो 5 अन्‍य देश कोविड 19 के 10 लाख से अधिक टेस्‍ट कर चुके हैं, उनमें भारत के लिहाज से संक्रमण के मामले कहीं अधिक हैं. भारत में 39,980 केस हैं. अमेरिका भी 10 लाख टेस्‍ट कर चुका है, वहां संक्रमण के 1,64,620 केस सामने आ चुके हैं. वहीं जर्मनी में 73,522 केस सामने आ चुके हैं. स्‍पेन में 2,00,194 केस सामने आ चुके हैं. तुर्की में कोविड 19 के अब तक 1,17,589 केस दर्ज किए गए हैं. वहीं इटली में 1,52,271 मामले सामने आए हैं. इस लिहाज से भारत की स्थिति ठीक है.

दूसरे देशों से कम है भारत में मृत्यु दर 

मृत्‍यु दर के लिहाज से भी भारत की स्थिति अन्‍य देशों की तुलना में ठीक है, जो हमारे लिए एक अच्छी खबर है . इस मामले में भारत ने दक्षिण कोरिया, चीन, रूस और अमेरिका सबको पीछे छोड़ दिया है. ये आंकड़े जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी ने जारी किए हैं. भारत में कोरोना से मौत की दर सिर्फ 3.2 % है. यानी कोरोना से संक्रमित सौ लोगों में से 4 से भी कम लोगों की मौत हो रही है. अगर इस आकंड़े को जनसंख्या के आधार पर देखा जाए तो हर एक लाख लोगों में सिर्फ 0.09 लोगों की मौत हो रही है.

 

Originally published at News18


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •