13 शहर बने लॉकडाउन हटाने में बाधा

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोना वायरस के चलते लगाया गया लॉकडाउन 4 के खत्म होने की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। लेकिन जिस तरह से कुछ स्थानो से कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं, उसको देखकर सवाल ये बनता है कि क्या लॉकडाउन-5 का ऐलान होगा या अब पाबंदियों को उठा ली जायेगी। इस दक्ष प्रश्न पर यूं तो सरकार में मंथन चल रहा है लेकिन इस बीच देश के 13 शहरों में कोरोना को लेकर अच्छी खबर नही आ रही है। जिसके चलते कोरोना से निपटने के लिए सरकार द्वारा बनाए गए 2 अहम पैनलों ने लॉकडाउन को और आगे न बढ़ाने की सिफारिश की है।

13 शहर बने सरकार के लिए मुसीबत

यूं  देखा जाये तो कोरोना से छिड़ी जंग में भारत हर रोज कोरोना को पस्त करने में डटा हुआ है लेकिन कुछ कड़ियां ऐसी भी है जहां कोरोना को रोक पाने में कमजोर साबित हो रहे हैं खासकर वो 13 शहर जो कोरोना को खूब भा रहे हैं। इन 13 शहरो में ही देश का 70 फीसदी केस कोरोना के मिल रहे हैं। खासकर मुबंई, दिल्ली, कोलकाता, चेन्नाई और अहमदाबाद  खास शहर हैं जहां आये दिन मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है और मरने वालों की तादाद भी। ऐसे में अब केंद्र  इन शहरों को लेकर कुछ खास रणनिती के साथ लॉकडाउन 5 में उतर सकती है। सरकार की माने तो इन शहरों में सख्त लॉकडाउन लगाया जा सकता है। जिससे कोरोना का खात्मा इन शहरों से हो सके।

इन में कौन सी स्‍ट्रैटजी पर हो रहा काम
केंद्र सरकार ने शहरी इलाकों में कोविड-19 के प्रबंधन को लेकर गाइडलाइंस पहले ही जारी कर दी हैं। यहां पर जो स्‍ट्रैटजी अपनाई जा रही है, उसमें हाई-रिस्‍क फैक्‍टर्स जैसे- कन्‍फर्मेशन रेट, फैटलिटी रेट, डबलिंग रेट, टेस्‍ट्स पर मिलियन वगैरह पर काम हो रहा है। केंद्र का जोर इस बात पर है कि कंटेनमेंट जोन को केसेज की मैपिंग और कॉन्‍टैक्‍ट्स तथा उनकी लोकेशन के हिसाब से डिफाइन किया जाए। इससे एक दायरा तय करने में मदद मिलेगी जहां लॉकडाउन को सख्‍ती से लागू कराया जा सकेगा।

लॉकडाउन में क्‍या मिल सकती है छूट
13 शहरो को छोड़ दे तो लॉकडाउन 4 के मुकाबले 5 में देश में छूट की सीमा बढ़ाई जा सकती है। ज्यादातर राज्य चाहते है कि लॉकडाउन को बढ़ाया जाये। हां, वो कुछ रियायतों की उम्‍मीद जरूर कर रहे हैं ताकि आर्थिक गतिविधियों को पटरी पर लाया जा सके। फिलहाल इस बार भी  स्कूल, कॉलेज, सिनेमा हॉल, धार्मिक स्थानों को बंद रखना होगा जिससे लोगो के बीच समाजिक दूरी बन सके। इसके साथ साथ सैलून और जिम भी खुलने के कम ही संभावना लग रही है।

बहरहाल क्या खुलेगा क्या नही इससे पर्दा अब रविवार को ही हटेगा लेकिन देश में कोरोना के मामले जिस तरह से आ रहे हैं उसमें लगता नही कि मोदी सरकार कोई कोताही बरतते हुए लॉकडाउन को खोलकर विषम स्थिति पैदा करेगी क्योंकि पीएम मोदी पहले ही बोल चुके हैं कि वो इस कठिन दौर में देश के लोगों की जान और जहान दोनो की रक्षा करते रहेंगे।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •