मोदी 2.0 के 100 दिन – स्वतंत्र भारत के इतिहास के सबसे गौरवशाली 100 दिन

दुनिया के सबसे बड़े और सबसे सशक्त लोकतंत्र का नेतृत्व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने दुसरे कार्यकाल में कर रहे हैं| मोदी की अगुवाई में उनकी दूसरी सरकार ने अपने 100 दिन पुरे कर लिए हैं और ये सौ दिन स्वतंत्र भारत के इतिहास के सबसे महत्वपूर्ण और गौरवशाली दिनों में गिने जायेंगे|

 100 days of Modi 2.0

अपने 100 दिनों के कार्यकाल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में Modi 2.0 ने कई महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं जिनका सकारात्मक असर भारत की एकता, अखंडता, सामर्थ्य, और अर्थव्यवस्था पर दूरगामी होगा| आइये एक नज़र डालते हैं मोदी सरकार के क्रन्तिकारी फैसलों पर:

जम्मू और कश्मीर समस्या का हल

मोदी 2.0 के सबसे क्रन्तिकारी फैसलों में से एक है कश्मीर समस्या का स्थायी समाधान निकालना| अनुच्छेद 370 और 35 (a) को ख़त्म करके मोदी सरकार ने कश्मीर को मिलने वाली खास दर्जे को समाप्त कर दिया और जम्मू और कश्मीर तथा लद्दाख का पुनर्गठन दो केन्द्रशासित प्रदेशों के रूप में कर के आतंक और पिछड़ेपन का दंश झेल रहे इस राज्य को मुख्य धारा से जोड़ने का कार्य किया|

जलशक्ति मंत्रालय का गठन

कागज़ी तौर पर बस ये एक संगठनात्मक बदलाव लगता है, लेकिन पानी की भयंकर समस्या से जूझ रहे एक देश के लिए इस मंत्रालय के गठन के बाद से क्रन्तिकारी परिवर्तन होने की उम्मीद है| आज भारत के अनेकों राज्यों के साथ-साथ सम्पूर्ण विश्व पानी की समस्या से जूझ रहा है| ऐसे में इस फैसले से मोदी सरकार की दूरदर्शी सोच और आम आदमी के जीवन को सरल करने की प्रतिबद्धता झलकती है|

इस मंत्रालय के मुख्य लक्ष्यों में से एक है देश के सभी नागरिकों को शुद्ध पेयजल मुहैया करवाना| सरकार ने देश के हर घर तक शुद्ध पेयजल पहुंचाने के लिए साल 2024 तक का लक्ष्य रखा है और ये सुनिश्चित करने के लिए इस जल जीवन मिशन पर करीब 3.5 लाख करोड़ की राशि खर्च करने की योजना बनायीं है।

तीन तलाक को ख़त्म करना

मुस्लिम समाज में महिलाओं के लिए अभिशाप के रूप में पलने वाली तीन तलाक की समस्या को मोदी सरकार ने कानून बनाकर ख़त्म किया| इस से न सिर्फ मुस्लिम महिलाओं को एक स्थायी जीवन जीने में मदद मिलेगी बल्कि उनके सामाजिक स्तर में भी बहुआयामी बदलाव आएगा| उल्लेखनीय है की तीन तलाक जैसी सामाजिक कुरीति पर कई इस्लामिक देशों ने भी प्रतिबंध लगा दिया है लेकिन तुष्टिकरण की राजनीति करने वाली सरकारों ने इस संवेदनशील मुद्दे को छेड़ने से हमेशा परहेज किया| इसलिए ये मोदी सरकार की एक बड़ी उपलब्धि है|

Modi 2 - 100 most glorious days in the history of independent India

आर्थिक सुधार और न्यूनतम आय गारंटी सुनिश्चित करना

2014 में मोदी के पहले सरकार के गठन के समय भारत की अर्थव्यवस्था को विश्व में 11वां स्थान प्राप्त था| लेकिन मोदी की दूरगामी नीतियों से पांच सालों बाद भारत विश्व की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन चूका है| और मोदी सरकार का लक्ष्य है कि साल 2024 तक भारत को 5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था बनाया जाए|

इसके अलावा भी मोदी 2.0 ने सरकार बनते ही सबसे पहले करीब 15 करोड़ किसानो और 3 करोड़ छोटे व्यापारियों, जो की देश का एक बड़ा तबका है, के लिए पेंशन योजना शुरू की|

इसके अलावा अभी हाल ही में वित्त मंत्रालय ने देश के सरकारी बैंको के मर्जर की घोषणा की| इसके अनुसार अब देश के 10 बड़े बैंको का 4 अपेक्षाकृत बड़े बैंकों में मर्जर कर दिया गया| मोदी सरकार के इस कदम को अर्थशास्त्रियों और वित्त एक्सपर्ट्स ने बैंकिंग सेक्टर के सुधार की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम बताया है|

नया मोटर व्हीकल एक्ट

देश भर में ट्रैफिक नियमों की अनदेखी और हर दिन अनगिनत सड़क हादसों को रोकने के ध्येय से मोदी सरकार ने नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू किया| इस एक्ट के लागू होने बाद से अब ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन पर भारी (पहले की अपेक्षा में 10 से 30 गुना) जुर्माने का प्रावधान किया गया है| इन नियमों का कड़ाई से अनुपालन करवा कर मोदी सरकार नागरिकों को नियमों से बंधकर चलने की आदत डालने की कोशिश कर रही है, जिससे की देश भर में सफ़र करना सुगम और सुरक्षित हो|

चंद्रयान 2 – अन्तरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में बड़ी कामयाबी

मोदी 2.0 सरकार के निर्देशन में इसरो ने चंद्रयान 2 का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया| इसरो की कामयाबी की कई इबारतों को लिखते हुए चंद्रयान सफलतापूर्वक चाँद के दक्षिणी ध्रुव पर आज उतरने वाला है| इस कामयाबी के बाद भारत अब विश्व के उन चार देशों में शामिल हो जायेगा जिसने चाँद पर सफलतापूर्वक कदम रखा हो|

पडोसी देशों पर कुटनीतिक बढ़त

मोदी के नेतृत्व में उनकी दूसरी सरकार ने पड़ोसी देशों पर कुटनीतिक बढ़त हासिल की है| चाहे वो पूर्व में आँखे तरेरते अपेक्षाकृत अधिक शक्तिशाली चीन के सामने भारत का प्रभुत्व स्थापित करना हो, या चिर प्रतिद्वन्दी पाकिस्तान को पूरी दुनिया में आतंक का पोषण करने वाले देश के रूप में सिद्ध करके उसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अलग थलग करना हो|

इसके अलावा मोदी सरकार ने अपेक्षाकृत छोटे और कम विकसित देशों का सहयोग कर के भी कुटनीतिक बढ़त बनाई है| प्रधानमंत्री बनने के बाद सबसे पहले मालदीव का दौरा करना और वहां से चीन के बढ़ते दखल को कम करना मोदी का एक कुटनीतिक कदम था|

सामरिक दृष्टिकोण से भारत को सशक्त करना

मोदी 2.0 में भारत ने सामरिक दृष्टि से खुद को बहुत मजबूत किया है| प्रथम 100 दिनों के कार्यकाल में देश को बहुप्रतीक्षित अपाचे हेलिकॉप्टर मिला, राफेल की पहली खेप इसी महीने वायुसेना में शामिल होने वाला है| इसके अलावा अमेरिका और रूस के साथ कई सैन्य करार कर के देश की सेना को और सशक्त बनाना मोदी सरकार ने सुनिश्चित कर लिया| इन्ही 100 दिनों में सैनिकबलों के लिए देश में ही निर्मित बुलेटप्रूफ जैकेट को मंजूरी मिली जो स्टील बुलेट को भी रोकने में सक्षम है|

अभी मोदी 2.0 के कार्यकाल का एक बड़ा दौर बचा हुआ है, और देश की जनता आश्वस्त है कि प्रधानमंत्री मोदी अपने नेतृत्व में देश को उस ऊँचाई तक लेकर जायेंगे की पुरे विश्व में भारत और भारतवासियों का सर गर्व से ऊँचा होगा|