आंखों में भर आए आंसू… दिव्यांग पिता अयूब की बेटी आल्या ने बताया डॉक्टर बनने का सपना, बोले-मदद की जरूरत हो तो बताएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को गुजरात के भरूच में आयोजित उत्कर्ष समारोह को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया। इस समारोह का आयोजन भरूच जिले में राज्य सरकार की चार प्रमुख सरकारी योजनाओं के शत प्रतिशत लक्ष्य पूरा होने के अवसर पर किया गया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक नेत्रहीन सरकारी योजनाओं के लाभार्थी से बात की। इस दौरान जो बात हुई उससे पीएम मोदी भी भावुक हो उठे।

प्रधानमंत्री ने लाभार्थी अयूब पटेल से बातचीत की। अयूब पटेल ने बताया कि वह सउदी अरब में थे, वहां उन्होंने आई ड्रॉप डाला जिसका साइड इफेक्ट हुआ और उनके आंखों की रोशनी जाती रही। उन्होंने बताया कि ग्लूकोमा हो गया है। पीएम ने पूछा कि क्या वह अपनी बेटियों को शिक्षा देते हैं? अयूब ने बताया कि वह अपनी बेटियों को पढ़ा रहे हैं, उनकी तीन बेटियां हैं। एक 12वीं, दूसरी 8वीं और तीसरी कक्षा एक में पढ़ती है।

 

अयूब ने बताया डॉक्टर बनना चाहती है बेटी

अयूब ने बताया कि कक्षा एक में पढ़ने वाली बच्ची को आरटीई के तहत प्रवेश मिल गया है और उसकी अब 8वीं तक पढ़ाई फ्री हो सकेगी। इस पर पीएम ने कहा-वाह। पीएम ने बाकी दो बेटियों के बारे में पूछा तो अयूब ने बताया कि दोनों बेटियों को स्कॉरशिप मिलती है। बड़ी बेटी का रिजल्ट आया है, उसे 80 पर्सेंट मार्क्स मिले हैं। इस पर मोदी ने कहा वह क्या करना चाहती है? अयूब ने बताया कि वह डॉक्टर बनना चाहती है।

 

पिता की हालत से मिली डॉक्टर बनने की प्रेरणा

पीएम मोदी ने अयूब की बेटी से बात की। उसने बताया कि उसका नाम आलिया है। पीएम ने मेडिकल प्रोफेशन को करियर के तौर पर चुनने का कारण पूछा, जिस पर उन्होंने कहा, ‘मेरे पिता जिस समस्या से जूझ रहे हैं, उसके कारण मैं डॉक्टर बनना चाहती हूं।’ इतना बोलकर आलिया भावुक हो गई उसने पिता को माइक दिया और रोने लगी।

 

गला रुंध गया तो बोलते-बोलते रुके पीएम

इतना देखकर पीएम भी भावुक हो गए। उन्होंने कहा ऐसा है बेटियों को… इतना बोलते ही पीएम की आंखें भर आईं, गला रुंध गया और वह बोलते-बोलते रुक गए। कुछ रुककर पीएम ने कहा, ‘बेटी तुम्हारी संवेदना ही तुम्हारी ताकत है।’ पीएम ने पूछा ईद कैसी रही? रमजान कैसा रहा? अयूब ने कहा अच्छा रहा। पीएम ने कहा बेटियों का सपना पूरा करना, कुछ कठिनाई हो तो मुझे भी बताना।

 

‘बेटियों का करता हूं अभिनंदन’

मोदी ने कहा, ‘मैं आपका और आपकी बेटियों को बहुत-बहुत अभिनंदन करता हूं। आपने ईद और रमजान अच्छे से मनाई। बेटियों के मन में जो प्रेरणा है कि पिता के कष्ट को देखते हुए वह डॉक्टर बनना चाहती हैं। यह भी सराहनीय है।’ पीएम ने कहा कि अगर बेटियों के सपने पूरे करने में कोई मदद चाहिए तो मुझे बताना।

Leave a Reply